हथियार लहराते हुए गाडियों और घरों में की तोड़फोड़, पुलिस ने निकाला जुलूस, लगवाई उठक-बैठक

इंदौर।

 इंदौर पुलिस ने तुकोगंज थाना इलाके में सरेआम तलवार लहराकर दहशत फैसले वाले आधा दर्जन बदमाशों को गिरफ्तार किया है।इतना ही नही कोर्ट में पेश करने से पहले पुलिस ने इनका जुलुस निकाला और फिर कान पकड़कर उठक-बैठक भी लगवाई।इसके पहले भी पुलिस ऐसा कर चुकी है।

दरअसल, करीब 25 सालों से प्रकाश जारवाल और टटवाल परिवार के बीच विवाद चल रहा है।इसके चलते बीते दिनों दोनों पक्षों में विवाद भी हुआ था। एक पक्ष ने तलवार लहरा कर दूसरे पक्ष के घर में घुसकर तोड़फोड़ की थी, जिसके बाद पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर जुलूस निकाला था। पुलिस ने दूसरे पक्ष के लोगों को भी पकड़ा और उनका भी शुक्रवार को जुलूस निकाला। पुलिस ने जुलूस के दौरान कान पकड़कर लंबे समय से चल रहे पारिवारिक विवाद को खत्म करने की बात भी दोहराई। 

इसको लेकर मंगलवार को पुलिस की जनसुनवाई में पंचम की फैल में रहने वाले पूर्व पार्षद अशोक जारवाल ने शिकायत की थी कि भतीजा फुलेश जारवाल 2 जनवरी को गाड़ी लेकर घर से निकला तो सात-आठ लड़के गली में जाम लगाकर खड़े थे और उसके साथ मारपीट की। इस दौरान फुलेश को सिर पर गहरी चोट आई थी और बीच-बचाव करने आए कन्हैयालाल और कपिल जारवाल भी घायल हो गए थे।जब ये लोग एफआईआर करवाने गए तो पीछे से धारदार हथियार लिए लड़कों ने धारदार हथियार लहराते हुए पहले खिड़की के कांच फोड़े, उसके बाद सामान और चार गाड़ियों को नुकसान पहुंचाया। जाते-जाते शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी। 

घटना सीसीटीवी में कैद हो गई थी।घटना का वीडियो देखने के बाद डीआईजी रुचिवर्धन मिश्र ने तुकोगंज थाना प्रभारी निर्मल श्रीवास को बुलाया और गुंडों को गिरफ्तार करने के लिए कहा था। जांच के दौरान मामला विवाद का निकला तो पुलिस ने शुक्रवार को दूसरे पक्ष को भी पकड़ा और उनका जुलूस निकाला।इसके बाद कोर्ट में पेश किया।फिलहाल मामले की आगे की जांच की जा रही है।