Indore News : सट्टा कांड में खजराना थाना प्रभारी पर गिरी गाज, DCP ने किया निलंबित

इंदौर में खेले जा रहे सट्टे को लेकर पूरा खजराना थाना वाकिफ था। मामले में थाना प्रभारी सुजीत श्रीवास्तव सहित बीट अधिकारी की भूमिका संदिग्ध बताई गई। जिसके चलते टीआई को निलंबित कर दिया गया है।

indore news

Indore News : मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर के खजराना क्षेत्र में चल रहे सट्टे पर कार्रवाई के मामले में खजराना टीआई सुजीत श्रीवास्तव को निलंबित कर दिया गया है। डीएसपी के निर्देश पर सट्टे के अड्डे पर दबिश दी गई थी। जिसमें बड़ी मात्रा में कैश बरामद हुआ था। उधर इस मामले में शामिल और भी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई हो सकती है।

क्या है पूरा मामला

पुलिस ने बुधवार दोपहर मुखबिर की सूचना के आधार पर अशरफी कॉलोनी थाना खजराना में सलीम मंसूरी और उसके लड़के आलम मंसूरी के घर पर सहायक पुलिस आयुक्त कृष्णा लालचंदानी द्वारा सर्च वारंट लेकर दबिश दी गई। इस दौरान पुलिस को 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपियों के पास से कुल 11,77,500 रूपए नकदी जब्त की। साथ ही 8 मोबाइल फोन, 9 बंडल सट्टा रोल पर्ची जब्त की। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ IPC की धारा 419 और पब्लिक गैंबलिंग एक्ट के तहत मामला मामला दर्ज करते हुए विवेचना शुरू कर दी है। वहीं पकड़े गए आरोपियों में सलीम मंसूरी, आलम मंसूरी, रईस खां, इरफान पटेल, यूसुफ खान और मुनव्वर शामिल हैं।

इंदौर में खेले जा रहे सट्टे को लेकर पूरा खजराना थाना वाकिफ था। मामले में थाना प्रभारी सुजीत श्रीवास्तव सहित बीट अधिकारी की भूमिका संदिग्ध बताई गई। जिसके चलते टीआई को निलंबित कर दिया गया है। वहीं अन्य पुलिसकर्मियों पर जल्द से जल्द कार्रवाई हो सकती है।

इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है।वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”