Indore News: बैठक में निगम कमिश्नर ने दिखाए सख्त तेवर, लापरवाही बरतने वालों को लगाई फटकार

निगम कमिश्नर ( corporation commissioner) प्रतिभा पालिका ने बिल्डिंग परमिशन विभाग (Building Permission Department) के अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ बैठक की। कमिश्नर ने अधिकारियों को कहा कि आप लोगों का प्रयास बिल्डिंग परमिशन से जुड़े कार्यों को सरल तरीके से संचालित करना है।

इंदौर,आकाश धोलपुरे। इंदौर निगमायुक्त (corporation commissioner) प्रतिभा पाल ने शनिवार को बिल्डिंग परमिशन विभाग (Building Permission Department) के अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ बैठक की। बैठक में काम मे लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों को फटकार भी लगाई। इस दौरान उन्होंने कहा कि आप बड़े पद पर जाने के लिए फोन लगवाते है, बेहतर है कि आप काम करे।
दरअसल, इंदौर नगर निगम का बिल्डिंग परमिशन विभाग हमेशा से ही अनियमितताओं के चलते चर्चा में रहा है। फिलहाल, हालात यह है कि बिल्डिंग परमिशन विभाग में नक्शे स्वीकृत करवाने में आवेदनकर्ताओं के पसीने छूट रहे हैं। लगातार लेट-लतीफी और उदासीनता की शिकायतों के बाद निगम कमिश्नर प्रतिभा पाल ने इस मामले में एक बैठक आयोजित की।

ये भी पढ़े-Election News: नगर पालिका चुनाव को लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से मिला प्रतिनिधि मंडल

बैठक में बिल्डिंग परमिशन विभाग से जुड़े सभी अधिकारी (Official) व कर्मचारी मौजूद थे। इस दौरान लगातार आ रही शिकायतों के मद्देनजर निगम कमिश्नर ने अधीनस्थों को जमकर फटकार लगाई। निगम कमिश्नर प्रतिभा पालिका ने कहा कि उनका प्रयास बिल्डिंग परमिशन से जुड़े कार्यों को सरल तरीके से संचालित करना है। ताकि, आवेदकों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि पिछले कुछ दिनों में नक्शों के स्वीकृत संबंधित पेंडिंग काम काफी हद तक निपटा लिए गए है । वहीं उन्होंने इस बात पर भी आपत्ति जताई कि बिल्डिंग परमिशन के वक्त आर्किटेक्ट के नम्बर के बजाय सम्बंधित व्यक्ति का नम्बर लिया जाए ताकि उस तक सीधे जानकारी दी जा सके।

ये भी पढ़े-मप्र निकाय चुनाव: आयुक्त ने कलेक्टरों को दिए यह निर्देश, 24 घंटे में करना होगा समाधान

कहा प्रमोशन के लिए तो मुझे फोन लगाते हो, काम करके आगे बढ़ना नहीं चाहते- कमिश्नर
इतना ही नहीं उन्होंने फटकार लगाते वक्त अधिकारियों व कर्मचारियों से ये भी कहा कि रैंक बढ़वाने के लिए तो मुझे फोन लगवाते हो। लेकिन, काम कर के कोई आगे नहीं बढ़ना चाहता है। बैठक में अपर आयुक्त कृष्णा चैतन्य सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि आगे से यदि कोई अनियमितता सामने आई तो संबंधित पर कार्रवाई की जाएगी।