Indore News : लक्ष्मण सिंह का बड़ा बयान, विधानसभा चुनाव बाद सिंधिया को गलती महसूस होगी

Indore News :  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह का बड़ा बयान सामने आया है, उन्होंने इंदौर में कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को मैंने कभी भी गद्दार नहीं कहा, लेकिन इतना जरूर है कि अगले विधानसभा चुनाव के बाद कोई अपनी गलती महसूस होगी। उन्होंने कहा कि भाजपा के बहुत से नेता है जो कांग्रेस में आना चाहते हैं। लक्ष्मण सिंह ने दावा किया कि मध्य प्रदेश में कर्नाटक से बड़ी जीत होगी।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस की कर्नाटक से बड़ी जीत होगी

इंदौर प्रेस क्लब में मीडिया से बात करते हुए लक्ष्मण सिंह ने कहा कि कमल नाथ और दिग्विजय सिंह ने बहुत सी सीटों पर सर्वे किया है और इस विधानसभा चुनाव में अच्छे अंतर से कांग्रेस जीत दर्ज कराएगी। कर्नाटक में कांग्रेस की जीत पर उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस की कर्नाटक से बड़ी जीत होगी। इसके अलावा उन्होंने प्रदेश की राजनीति प्रदेश के विकास यहां के वन क्षेत्र और किसानों की समृद्धि तथा कूनो में लाए गए चीतों को लेकर भी बात की।

दिग्विजय सिंह और कमल नाथ युवा जोड़ी

मध्य प्रदेश की राजनीति में युवा नेतृत्व को लेकर उन्होंने कहा कि कमल नाथ और दिग्विजय सिंह की जोड़ी युवा नेतृत्व ही है। उनकी उम्र से इसका संबंध नहीं है वह आज भी बहुत काम करते हैं और सुबह से रात तक मध्य प्रदेश और कांग्रेस के लिए भागदौड़ कर रहे हैं। अबकी बार फिर सरकार बनाएंगे।

वन माफिया सक्रिय है

प्रदेश के वन क्षेत्र को लेकर उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में 44 प्रतिशत क्षेत्र में फोरेस्ट है, लेकिन वन माफिया सक्रिय है और तेजी से जंगल काट रहे हैं। जिसपर रोक लगाना जरूरी है।

सिंधिया को गलती महसूस होगी

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने और कांग्रेस नेताओं द्वारा उन्हें गद्दार कहने के सवाल पर लक्ष्मण सिंह ने कहा कि मैंने सिंधिया जी को कभी गद्दार नहीं कहा। वरिष्ठ नेता ने कहा कि भाजपा के कई वरिष्ठ नेता है जो कांग्रेस में आना चाहते हैं। विधानसभा चुनावों के परिणाम के बाद सिंधिया जी को अपनी गलती का अहसास होगा।

इंदौर से मंगल राजपूत की रिपोर्ट 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ....पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News