Indore News : नशे के खिलाफ पुलिस की बड़ी कार्रवाई, भांग की गोलियां और मुनक्का बनाने वाली फैक्ट्री पर मारा छापा, 3 आरोपी गिरफ्तार

अकाउंटेंट शुभम परमार द्वारा फैक्ट्री का लाइसेंस और आबकारी विभाग की परमिशन के कार्य दिखाए गए पुलिस अब मुनक्का फैक्ट्री के कागजों को देखने के बाद आगे की कार्रवाई करेगी।

Amit Sengar
Published on -
indore news

Indore News : मध्यप्रदेश में अवैध मादक पदार्थ का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। प्रदेश में अवैध मादक पदार्थ कारोबार चरम सीमा पर है, मिली जानकारी के मुताबिक, लोकसभा चुनाव से ठीक पहले इंदौर क्राइम ब्रांच पुलिस व तीन थानों ने अवैध मादक पदार्थों का व्यापार करने वालों पर बड़ी कार्रवाई की है। जहाँ पुलिस ने 4 स्थानों पर कार्रवाई करते हुए भारी मात्रा में भांग और मुनक्का बनाने की सामग्री बरामद की गई है। तो वहीं दो से तीन आरोपी को भी मौके से गिरफ्तार किए गए हैं।

क्या है पूरा मामला

झोन एक के एडिशनल डीसीपी आलोक कुमार शर्मा ने कहा कि अवैध मादक पदार्थ का व्यापार करने वालों की धर पकड़ करने हेतु निर्देशित किया गया. मिले निर्देशों के अनुसार थाना एरोड्रम थाना मल्हारगंज और थाना राजेंद्र नगर में दबिश देकर ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए अवैध भांग बनाने की मशीन की जब्ती के साथ आरोपी को भी गिरफ्तार किया गया है। साथ ही 13 किलो 500 ग्राम अवैध भांग भी जब्त की गई है।
क्या है पूरा मामला
एक टीम ने थाना राजेंद्र नगर में निरीक्षक देवेंद्र मरकाम के बाल के साथ सहाकर नगर के रोड इंदौर में हीरा इंटरप्राइजेज कल्याण सेवा सदन में जो की फैक्ट्री बंद थी। फैक्ट्री के अकाउंटेंट शुभम परमार के साथ फैक्ट्री का ताला खोलकर तलाशी ली गई तो मस्ताना मुनक्का की गोली और मीठी सुपारी बनाए जाने की बात फैक्ट्री में सामने आई जिसमें भांग व अन्य औषधीय से मुनक्का बनाया जाता है। अकाउंटेंट शुभम परमार द्वारा फैक्ट्री का लाइसेंस और आबकारी विभाग की परमिशन के कार्य दिखाए गए पुलिस अब मुनक्का फैक्ट्री के कागजों को देखने के बाद आगे की कार्रवाई करेगी।

Continue Reading

About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”