Indore News: महिला उत्पीड़न और बाल शोषण की रोकथाम के लिए Poshshala Foundation का हुआ शुभारंभ

Manisha Kumari Pandey
Published on -

Indore News: स्कूल, कॉलेज और कॉरपोरेट दफ्तरों में महिलाओं के साथ अत्याचार और यौन उत्पीड़न और समाज में बाल शोषण के मामले देखने को मिलते हैं। इन्हीं मुद्दों पर जागरूकता लाने के उद्देश्य से पौषशाला फाउंडेशन का शुभारंभ इंदौर में किया गया है। इस कार्यक्रम में शहर के जाने-माने समाजसेवी और प्रतिष्ठित नागरिक शामिल हुए।

पौषशाला के डायरेक्टर अमित दवे ने बताया गया कि, “भारत में बढ़ रहे महिलाओं और बच्चों के प्रति यौन उत्पीड़न और बाल शोषण के मामलों को ध्यान में रखते हुए भारतीय संविधान में पौष एक्ट और पॉस्को एक्ट बनाया गया है। लेकिन इसकी जानकारी का अभाव है और इसी को कॉरपोरेट जगत में जागरूकता लाने के उद्देश्य से पौषशाला फाउंडेशन की शुरुआत की है। जिसका उद्देश जनता को जागरूक करना है। पौषशाला के डायरेक्टर अमित दवे के मुताबिक पौष अधिनियम कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न की रोकथाम का अधिनियम है।”

अधिनियम कर्मचारियों को कार्यस्थल में किसी भी यौन उत्पीड़न से बचाने के लिए एक कानूनी ढांचा प्रदान करता है। इस दिशा में पोष शाला एक फाउंडेशन के रूप में बाल यौन शोषण और महिलाओं का कार्यस्थल पर यौन  उत्पीड़न अधिनियम पर काम कर रही है। अभी तक इसमें कई राज्यों में अनेक कॉर्पोरेट समूह और कंपनी को अपनी सेवाऐं प्रदान की है। अब इसे इंदौर में ऑफ़िशियली लॉन्च किया गया है।
इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News