Indore news: 15 साल से गो भक्ति की मिसाल बन चुके बुजुर्ग ने विधि पूर्वक गाय का अंतिम संस्कार किया

गो भक्ति की मिसाल बने देपालपुर तहसील के बुजुर्ग। गाय की मृत्यु हो जाने के बाद विधि-विधान से की अंत्येष्टि।

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। कलयुग में जहां लोग अपने माता पिता के प्रति भी जिम्मेदारियां नहीं निभा पा रहे हैं । ऐसे में इंदौर जिले के देपालपुर तहसील के एक छोटे से गांव करजोदा के निवासी रामेश्वर जी बडवाया चौहान ने एक मिसाल पेश की है। उन्होंने अपने यहां पिछले 14 साल से पल रही एक गौ माता के अंतिम संस्कार को इस तरह से विधि-विधान पूर्वक संपन्न किया कि लोग देखते रह गए।  गौ रक्षा और गौ सेवा की बात करने वालों के लिए रामेश्वर जी बनवाया ने एक मिसाल पेश की है।

यह भी देखें- हॉटस्पॉट Indore में संक्रमण का विस्फोट, एक दिन में 512 पॉजिटिव, एक्टिव केस 1200 के पार

उन्होंने इस गाय को पिछले 15 साल से पाला। उसके बच्चों का लालन-पालन किया, लेकिन अंत में जब वह गाय प्राण त्याग कर देवलोक गमन कर गई तो उन्होंने  बकायदा पूरे गांव में गौ माता की शोभायात्रा निकलवाई और  बाद में उस गाय को दफनाया।

यह भी देखें- मध्यप्रदेश में कोरोना का विस्फोट, Indore-Bhopal बना हॉटस्पॉट, केंद्र ने दिए निर्देश

रामेश्वर जी इतने तक भी नहीं रुके उन्होंने गाय की मृत्यु के 13 दिन पश्चात उसकी आत्मा की शांति के लिए पूरे गांव भर के लोगों को निमंत्रित कर भण्डारे का आयोजन भी किया। आसपास के क्षेत्र के लोग अब जहां रामेश्वर जी की गो भक्ति की बातें कर रहे हैं, वहीं उनके द्वारा पशु प्रेम की मिसाल की प्रशंसा पूरे क्षेत्र में की जा रही है। गौ माता की अंत्येष्टि में किए गए भंडारे के दौरान सभी लोग रामेश्वर जी से मिलने पहुंचे उन्हें अभिवादन किया और गाय माता के लगी तस्वीर के सामने नमन भी किया।

यह भी देखें- Indore News : इंदौर में वैक्सीनेट हुए किशोर, 10 जनवरी तक टीकाकरण पूरा करने का लक्ष्य

हालांकि 68 वर्षीय रामेश्वर जी ज्यादा लोगों के बातों का जवाब नहीं दे पाए क्योंकि वह ठीक से सुन नहीं पाते हैं, लेकिन उनके चेहरे पर इस सद कर्म के बाद संतुष्टि  ही देखते ही बनती थी। रामेश्वर जी का पूरा परिवार इस दौरान उनके साथ रहा और गौ भक्ति किस मिसाल का साक्षी  बना।