इंदौर निकाय चुनाव : शहरी क्षेत्र से ज्यादा ग्रामीण क्षेत्रो के मतदाताओं में दिखा उत्साह

सभी उम्मीदवारों का भविष्य ईवीएम में कैद, 17 जुलाई को आएंगे परिणाम।

इंदौर, आकाश धौलपुरे। मध्यप्रदेश निकाय चुनाव (mp nikay election) के सबसे ज्यादा राजस्व देने नगर निगम के जनप्रतिनिधियों को चुनने के लिए ठीक शाम 5 बजे मतदान समाप्त हो गया। हालांकि, मतदान के आधिकारिक आंकड़े की बात करे तो शाम तक बजे तक इंदौर (indore) के शहरी क्षेत्र की 6 विधानसभा क्षेत्रों में इंदौर में 60.88 प्रतिशत मतदान हुआ है। इसके अलावा जिले की 8 नगर परिषदों में कुल 76.02 प्रतिशत मतदान किया गया। जहां इंदौर शहरी क्षेत्र में जहां सबसे ज्यादा मतदान प्रतिशत 63.88प्रतिशत विधानसभा क्रमांक 1 में हुआ है तो सबसे कम मतदान प्रतिशत के साथ विधानसभा 5 रही जहां केवल 58.06 प्रतिशत मतदाताओं ने ही अपने मताधिकार का उपयोग किया।

यह भी पढ़े…एथलीट पीटी उषा, इलैयाराजा, वी विजयेंद्र प्रसाद और वीरेंद्र हेगड़े को राज्यसभा के लिए किया गया नामित

इंदौर निकाय चुनाव : शहरी क्षेत्र से ज्यादा ग्रामीण क्षेत्रो के मतदाताओं में दिखा उत्साह

इधर, जिले नगर परिषदों की बात की जाए तो 8 नगर परिषदों में कुल 76.02 प्रतिशत मतदान हुआ और नगर परिषद में से हातोद नगर परिषद 87.90 प्रतिशत मतदाताओं ने मतदान किया वही महूगांव परिषद में सबसे कम 68.40 प्रतिशत मतदान हुआ। इधर, राजनीति के जानकारों की माने तो मतदान के प्रतिशत का गिरना नए चुनावी समीकरण की ओर इशारा कर रहे है ऐसे में विपक्ष में बैठी कांग्रेस कुछ हद खुशी मना सकती है लेकिन अंततः वोटो के प्रतिशत के अचानक गिर जाने को लेकर राजनीतिक विश्लेषक ये भी मान रहे है कि लोगो का रुझान देरी से हुए चुनाव के कारण कमजोर रहा होगा। फिलहाल, जीत किसकी होगी ये तो 17 जुलाई को ही पता चल पायेगा लेकिन इंदौर में कम हुये वोट प्रतिशत के बाद समीरकरण जुदा हो चले है।

इंदौर निकाय चुनाव : शहरी क्षेत्र से ज्यादा ग्रामीण क्षेत्रो के मतदाताओं में दिखा उत्साह

यह भी पढ़े…कुदरत का रौद्र रूप देख हैरान रह जाएंगे आप, देखें वायरल वीडियो में नजारा

मिली जानकारी के अनुसार इंदौर नगर निगम क्षेत्र में कुल 18 लाख 35 हजार 317 मतदाताओं में से कुल 11 लाख 17 हजार 300 मतदाताओं ने मतदान किया। इसी तरह आठों नगर परिषदों में कुल एक लाख 23 हजार 532 मतदाताओं में से 93 हजार 908 मतदाताओं ने मताधिकार का उपयोग किया। बता दे कि निकाय चुनाव मतदान करा रही टीम में उत्साह अंत तक बरकरार था और मतदान के बाद मतदान दलों की वापसी हो रही है।