इंदौर : ग्राम सरपंच से ही पटवारी ने की रिश्वत की मांग, लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा

लोकायुक्त इंदौर की ट्रैप कार्रवाई में एक ओर रिश्वतखोर पटवारी पकड़ा

इंदौर, आकाश धौलपुरे। इंदौर के सांवेर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम दर्जी कराड़िया में सोमवार को रिश्वत लेने का एक बड़ा मामला सामने आया है। दरअसल, लोकायुक्त इंदौर की ट्रैप कार्रवाई में एक ओर रिश्वतखोर पटवारी पकड़ा है जिसे 40 हजार रुपये की नगद रकम के पकड़ा गया है। दिलचस्प बात ये है कि पटवारी ने अपने ही ग्राम क्षेत्र के सरपंच से बटांकन के नाम रिश्वत की मांग की थी।

यह भी पढ़े…खरगोन : भाजपा नगर मण्डल महामंत्री सहित परिवार को बंधक बनाकर हुई लाखों की लूट

बताया जा रहा है कमल चौधरी पिता रामचंद्र चौधरी उम्र 43 वर्ष सरपंच ग्राम दर्जी कराडिया तहसील सावेर जिला इंदौर ने लोकायुक्त में शिकायत दर्ज कराई थी कि पटवारी सुबोध सुमेले से उसने अपनी ज़मीन का नक्शे का बटांकन करने लिए संपर्क किया था उसी दौरान पटवारी ने कहा कि इसके लिए पड़ोस के भू- मालिकों से भी सहमति लेनी पड़ेगी और इसमें आपको 1 लाख रुपया खर्च करने पड़ेंगे।

इंदौर : ग्राम सरपंच से ही पटवारी ने की रिश्वत की मांग, लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा

यह भी पढ़े…अपनी ही सरकार को आखिर किस BJP विधायक ने फिर घेरा !

इसके बाद आवेदक कमल चौधरी ने इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त इंदौर को की। जिसके बाद रिकॉर्डिंग कराई गई और बातचीत के दौरान 85 हज़ार रुपये की रिश्वत लेना तय हुआ। बातचीत के समय ही पटवारी द्वारा 5 हज़ार रुपये ले लिए गए थे। इसके बाद 10 जनवरी सोमवार को रिश्वत की पहली किस्त के रूप में 40 हज़ार पटवारी सुबोध सुमैले को ग्राम पंचायत दर्जी कराडिया के प्रांगण में दिए गए इसी दौरान लोकायुक्त की टीम ने पटवारी को ट्रैप किया और रिश्वत की राशि आरोपी पटवारी के बैग में में रख ली गई थी।

यह भी पढ़े…इंदौर में अपहरण की अनूठी वारदात, फिल्मी स्टाइल में वारदात को दिया था अंजाम

लोकायुक्त की टीम ने भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम (संशोधित) 2018 की धारा 7 प्रकरण दर्ज किया है वही इस पूरे मामले की बारीकी से जांच में लोकायुक्त की टीम जुटी हुई है।