कमिश्नर ऑफ पुलिस इंदौर की बड़ी बैठक, आने वाले 15 दिनों में नए सिस्टम के तहत शुरू होगा काम

वही मीडिया से बातचीत कर कमिश्नर ऑफ पुलिस हरिनारायणचारि मिश्रा ने बताया कि बैठक में मुख्य तौर पर पुलिस की दक्षता, व्यवसायिक प्रतिबद्धता के साथ ही अपेक्षाओं पर पुलिस कैसे बेहतर ढंग से काम करे इस पर चर्चा दिशा निर्देश दिए गए है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे ।  मध्यप्रदेश के भोपाल और इंदौर में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू की जा चुकी है और दोनों ही बड़े सेंटर्स पर कमिश्नर ऑफ पुलिस ने बागडोर संभाल ली है। हालांकि, अभी पुलिस कमिश्नर प्रणाली को व्यापक स्तर पर लागू करने के बहुत से फेरबदल होना है। वही नए सिस्टम के तहत संसाधनों के साथ ही अधिकारियों की पदस्थापना, कार्यालयों की स्थापना से लेकर बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स जरूरी है जिसे लेकर काम शुरू हो चुका है।
इंदौर में नए सिस्टम में कैसे थाना प्रभारी से लेकर पुलिस अधिकारियों और जवानों की भूमिका रहेगी और किस तरह की कार्यप्रणाली होगी इसे लेकर एक बड़ी बैठक रविवार को इंदौर में कमिश्नर ऑफ पुलिस हरिनारायणचारि मिश्रा ने अधीनस्थ पुलिस अधिकारियों व थाना प्रभारियों की बैठक ली। बैठक में प्रशिक्षण से लेकर अपराधों पर लगाम कसने की लेकर विशेष दिशा निर्देश दिए गए।

यह भी पढ़े.. भले ही थम गया हो जिंदगी का सफर, मगर नही रुक रही आंसुओं की रफ्तार….

वही मीडिया से बातचीत कर कमिश्नर ऑफ पुलिस हरिनारायणचारि मिश्रा ने बताया कि बैठक में मुख्य तौर पर पुलिस की दक्षता, व्यवसायिक प्रतिबद्धता के साथ ही अपेक्षाओं पर पुलिस कैसे बेहतर ढंग से काम करे इस पर चर्चा दिशा निर्देश दिए गए है। वही उन्होंने इंदौर में रात में होने वाले अपराधों को लेकर प्रभावी ढंग से काम करने को लेकर भी निर्देश दिए। उन्होंने बताया नाइट क्राइम को लेकर तय किया गया है कि नशे और ड्रग्स को लेकर एक हेल्पलाइन नम्बर भी जारी किया जाएगा और किसी क्षेत्र में कोई समस्या आती है तो व्हाट्सएप नम्बर पर लोग जानकारी डाल सकेंगे। इसके अलावा सभी इलाको में पुलिस की विजिबिलिटी बढ़ाई जाएगी।

यह भी पढ़े.. VIDEO: राहुल गांधी बोले- हिंदुत्व वादियों को बाहर कर हिंदुओं का राज लाना है

कमिश्नर ऑफ पुलिस इंदौर ने बताया कि ट्रैफिक पुलिस ज्यादा बेहतर ढंग से काम करेगी। उन्होंने बताया कि संसाधनों के बढ़ने की दिशा में आने वाले 10 दिनों में अब पुलिस के पास संसाधन ओर भी बेहतर होंगे वही पुलिस अधिकारी और नई फोर्स बढ़ेगी जिसके चलते पुलिस का कार्य क्षेत्र सिमटेगा जरूर लेकिन कार्यो की गहनता बढ़ेगी। इसके साथ महिला सुरक्षा को लेकर सजगता के साथ पुलिस हर जगह दिखेगी। उन्होंने बताया कि नए सिस्टम के तहत जिन पुराने अपराधियों पर बॉन्ड ओवर किया जाना है उन्हें लेकर एक बड़े स्तर अभियान चलाया जाएगा इसके अलावा जिला बदर और जेल रिहाई के पुराने मामलों पर पुलिस अब नए सिरे से मूल्यांकन कर कार्रवाई करेगी। वही नए तरह के अपराधों को लेकर पुलिस ने योजना बनाई जिस पर काम किया जाएगा। कमिश्नर ऑफ पुलिस के मुताबिक अधिकारियों की पदस्थापना अगले 4 से 5 दिनों में होने वाली है लेकिन इसमें मुख्य तौर पर जरूरत होगी जवानों आरक्षकों की और ज़मीनी स्तर पर काम करने वाले अधिकारियों की और उम्मीद है कि आने वाले 10 दिनो में उनकी भी पूर्ति हो जायेगी। जिसके बाद पुलिस की उपलब्धता और विजिबिलिटी बढ़ जाएगी। धारा 151 से लेकर अन्य मामलों को लेकर गिरफ्तारी व जमानत जैसे मामलो को लेकर कमिश्नर ऑफ पुलिस इंदौर ने कहा कि पुलिस के कार्यालयो के स्थापित होने में थोड़ा सा वक्त अभी लग रहा है। प्रशिक्षण से लेकर संसाधनों को स्थापित करने के पुलिस प्रयासरत है। वही जनसुनवाई सहित आमजनों की शिकायत की गतिविधियां जारी रहेगी। उन्होंने बताया कि कार्यस्थापना और कार्यालय लगभग तय हो चुके है वही एसइपी स्तर के कुछ कार्यालय तय होना बाकि है जो कार्य जल्द पूरा होगा।

यह भी पढ़े.. जब जयपुर में केंद्र सरकार पर जमकर गरजे कमलनाथ

वही उन्होंने बताया कि अब पुलिस अधिकारियों के सरकारी नम्बर सार्वजनिक स्थानों पर लगाये जायेंगे। इसके अलावा नए सिस्टम के तहत प्रशिक्षण की शुरुआत को लेकर उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत हो गई है। एसइपी और एडिशनल डीसीपी को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। वही आने वाले दिनों में कुछ और टीमें नए सिस्टम को लेकर प्रशिक्षण देने के लिए आएंगी। रिसोर्स और फोर्स स्थापित होने के बाद आने वाले दिनों में स्वतंत्र प्रणाली के तहत काम शुरू होगा। उन्होंने माना कि आने वाले 10 से 15 दिनों में नई प्रणाली के तहत पूरी तरह से काम शुरू कर दिया जाएगा।