कोरोना संकट के बीच इंदौर पुलिस ने उठाया बड़ा कदम, अब ऐसे देगी समझाइश

इंदौर।आकाश धौलपुरे।

कोरोना के खतरे को बहुत हद तक शिक्षित वर्ग समझ चुका है वही समाज के वो लोग जो या तो कम पढ़े लिखे है या फिर अशिक्षित है वो लोग अभी भी पुलिस और प्रशासन के लिए चुनौती बने है। ऐसे लोगो को कोरोना के खतरे को समझाने के लिए इंदौर की विजय नगर पुलिस ने एक अनूठा प्रयास किया है।जिसमे कोरोना के प्रति जागरुकता और सतर्कता का संदेश तो है ही साथ ही पुलिस ने उन लोगो तक भी ये संदेश पहुंचाया है जो अनावश्यक रूप से घर से बाहर घूम रहे है।

दरअसल, पुलिस लगातार गश्त कर लोगो को घरों में रहने के लिए प्रयास कर रही है लेकिन बावजूद इसके लोग पुलिस वाहन निकल जाने के बाद घरों से बाहर किसी मुहाने या ओटलों पर बैठ जाते है जो कोरोना जैसे घातक वायरस को निमंत्रण है। इसी के चलते विजय नगर पुलिस ने क्षेत्र की घनी बस्तियों में अनूठे नुक्कड़ कार्यक्रम को आयोजित किया। जिसमें सोशल डिस्टेंसी का ख्याल रख कोरोना डमी के जरिये के संदेश दिया कि यह वायरस ना जाति देखता है ना धर्म और ना पैसा देखता है ना रुतबा। कोरोना रूपी राक्षस की डमी के साथ पुलिस जहाँ दिन में बीआरटीएस पर लोगो को अवेयर कर रही है वही रात को बस्ती व कालोनियों में। जहां – जहां पुलिस का अभियान चल रहा है वहां- वहां लोगो द्वारा कर्मवीर पुलिस जवानों के लिये तालियां बजाई जा रही है।

डमी के जरिये इंदौर पुलिस द्वारा समझाया जा रहा है कि लोग, घरों से बाहर नहीं निकले। बाहर निकलने पर संक्रमण आपको पकड़ लेगा और आपका स्वास्थ्य खराब होगा जिसके बाद परिवार का स्वास्थ्य खराब होगा और पड़ोसियो का भी स्वास्थ्य खराब होगा इसलिए लोग घरों में रहे,घरों से बाहर ना निकले। इधर, पुलिस का ये अभियान लोगो द्वारा पसंद किया जा रहा है लोग घरों की बालकनी से ही पुलिस के कदम की सराहना कर रहे है।

दौर कोरोना संक्रमण से आम जनता को शिक्षित करने के लिए विजय नगर पुलिस की मुहिम अनावश्यक रूप से घूमने वालेऔर पुलिस के वहां निकल जाने के बाद होटलों पर आकर बैठने वालों को संक्रमण खतरा रूपी दो डमी बनाकर हिदायत दी गई कि घरों से बाहर नहीं निकले बाहर निकलने पर संक्रमण आपको पकड़ लेगा और आपका स्वास्थ्य खराब होगा परिवार का स्वास्थ्य खराब होगा पड़ोसी का स्वास्थ्य खराब होगा समाज का स्वास्थ्य खराब होगा इसलिए घरों में रहे घरों से बाहर ना निकले।