इंदौर : CISF अफसर के होटल में पकड़ा गया सेक्स रैकेट, दो महीने पहले खरीदकर दिया था किराये पर

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। इंदौर में तुलसी नगर की होटल में दबिश देकर पुलिस ने यहाँ चल रहे सेक्स रैकेट का खुलासा किया है, दरअसल पुलिस को लगातार इस होटल के बारे में शिकायत मिल रही थी कि यहाँ अवैध काम चल रहे है, जिसके बाद इंदौर लसूडिया पुलिस यहां ग्राहक बनकर पहुंची और कोलकाता के दंपती सहित दस लोगों को गिरफ्तार किया। हैरान करने वाली बात यह है कि होटल CISF अफसर की है, जो भिलाई में पोस्टेड है।

यह भी पढ़ें…. मध्यप्रदेश: अग्निपथ योजना का MP में नहीं कोई विरोध, प्रदेश में पूरी तरह शांति-गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा

बताया जा रहा है कि CISF अफसर ने दो महीने पहले ही यह होटल खरीदा था और इसे 80 हजार रुपए महीने में शुभम और मोहम्मद मोबिन को किराए पर दिया था। यह दोनों युवक ही होटल में जिस्मफरोशी करवा रहे थे, मोबिन के मुताबिक वह जिस्मफरोशी के मामले में ब्रोकर का काम करता है।  पुलिस ने इस मामले में अनैतिक व्यापार की धाराओं में केस दर्ज किया है। पुलिस को होटल से कंडोम, शराब की बोतलें सहित अन्य संदिग्ध चीजें भी मिली हैं। यह होटल CISF के एक अफसर की बताई जा रही है, जो उसने किराए पर चलाने के लिए दी थी। बताया जा रहा है कि पुलिस सूचना मिलने के बाद ग्राहक बनकर होटल में पहुंची और कमरे के साथ ही लड़की की डिमांड की, पहले तो शुभम ने लड़की के लिए नया नुकर की फिर वह मान गया, इसके लिए उसने अलग से पैसे देने की बात की, जैसे ही कमरे में लड़की आई पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया।

यह भी पढ़ें…. पेंशनरों को सीएम का बड़ा तोहफा, पेंशन में 3000 की वृद्धि, खाते में बढ़कर आएगी इतनी राशि

होटल में पुलिसकर्मी जब अपने कमरे की ओर गए तो उन्हें अन्य कमरों में युवक-युवतियां आपत्तिजनक स्थिति में नजर आए। यहां से आपत्तिजनक स्थिति में सुनील चौहान निवासी पीपल्याहाना, चैतन्य निवासी पीपल्याहाना, सौरभ जायसवाल निवासी रामकृष्ण बाग खजराना, मोहम्मद मोबिन पुत्र अब्दुल जब्बार निवासी मदनीपुरा कोलकाता और उसकी पत्नी सहित चार अन्य युवतियों को गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि पकड़ाई युवतियों में से 4 मिदनापुर, पश्चिम बंगाल और एक महाराष्ट्र की रहने वाली है। आरोपी मोहम्मद मोबिन वहां से लड़कियों को लेकर इंदौर आया था। सभी को होटल में रखा गया था। पुलिस इनके दस्तावेजों को लेकर भी जांच कर रही है। पुलिस यह भी पता लगाने में जुटी है कि इन्हें नौकरी या अन्य किसी लालच के लिये तो दंपती इंदौर लेकर नहीं आए थे।फिलहाल पुलिस सभी आरोपियों से पूछताछ कर रही है।