इंदौर: जेल में बंद हाईप्रोफाइल महिला कैदी से स्मार्ट फोन बरामद, सैनेटरी पेड में था छुपाया

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। एक मल्टीनेशनल कंपनी और न्यूज चैनल की सीईओ बनकर कारोबारियों को बेवकूफ बनाकर पैसा हड़पने वाली पायल बीके सैमुअल जेल में भी सुर्खियों में है, दरअसल करोड़ों की ठगी के आरोप में इंदौर जिला जेल में बंद पायल सैमुअल के पास मोबाइल मिलने से हड़कंप मच गया है। पायल यह मोबाईल अपने सेनेटरी पेड में छुपाकर रखती थी, गौरतलब है कि हाई प्रोफाइल कैदी पायल को चार महीने पहले तिहाड़ जेल से इंदौर शिफ्ट किया गया था।

यह भी पढ़ें….भूपेन्द्र सिंह चौधरी बने UP भाजपा के नए अध्यक्ष, 2024 के चुनावों ने लिए पार्टी की है बड़ी तैयारी

बताया जा रहा है कि वह जेल से ही वकील और रिश्तेदारों के संपर्क में थी। यह पता नहीं चल पाया है की यह फोन पायल तक किसने पहुंचाया है, जेल प्रशासन ने मामले की जांच शुरू कर दी है। खुद केंद्रीय जेल अधीक्षक अलका सोनकर जिला जेल अधिकारियों, महिला गार्डों और महिला बंदियों के बयान ले रही हैं। वही मामला सामने आने के बाद तत्काल प्रहरी रुबीना को सस्पेंड कर दिया गया है। पायल पर ठगी के भोपाल सहित दिल्ली, मुंबई, भोपाल और इंदौर में 14 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। दिल्ली की तिहाड़ जेल उसे इंदौर जिला जेल के महिला वार्ड के बैरक नंबर 4 में 14 महिला कैदियों के साथ रखा गया है।

यह भी पढ़ें…. Ganesh Chaturthi : इस विधि विधान से करना चाहिए गणपति की स्थापना, दूर होती है आर्थिक तंगी

पायल के पास मोबाईल का खुलासा उस वक़्त हुआ जब 21 अगस्त को जेल अधीक्षक अजमेर सिंह ठाकुर ने दस्ता बनाकर औचक निरीक्षण किया और पायल के कब्जे से एक मोबाइल (स्मार्ट) बरामद किया। दरअसल अचानक हुए निरीक्षण के जब दस्ता पायल के सामने पहुंचा तो फोन पायल के हाथ में था हड़बड़ाहट में फोन उसके हाथ से गिर गया और सारे मामलें का खुलासा हो गया। इस फोन में कॉलिंग और इंटरनेट की सुविधा चालू थी। हाई प्रोफाइल कैदी से जुड़े मामले को देखते हुए जेल मुख्यालय ने जांच के आदेश दिए और संयोगितागंज थाने में मोबाइल सहित शिकायत कर दी। केंद्रीय जेल अधीक्षक अलका सोनकर ने भी विभागीय जांच शुरू कर दी है। मंगलवार शाम प्रहरी रुबीना को सस्पेंड कर दिया गया।