इंदौर एसटीएफ की कार्रवाई, फर्जी एडवायजरी कंपनियों के मायाजाल को बुनने वाले 5 गिरफ्तार

एसटीएफ इंदौर (STF Indore) ने तीन फर्जी एडवायजरी कंपनी (fake advisory company) पर कार्रवाई करते हुए पांच संचालकों को गिरफ्तार किया है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। एसटीएफ इंदौर (STF Indore) ने तीन फर्जी एडवायजरी कंपनी (fake advisory company) पर कार्रवाई करते हुए पांच संचालकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि फर्जी एडवायजरी कंपनी के माध्यम से आरोपियों ने निवेशकों के साथ लाखों रूपए की ठगी को अंजाम दिया है।

Read More…वन मंत्री विजय शाह ने कांग्रेस पर साधा निशाना, दिग्विजय को लेकर कही यह बात

एसटीएफ इंदौर ईकाई एसपी मनीष खत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि टीम ने गीताभवन चौराहे और बंगाली चौराहे पर चल रही तीन फर्जी एडवायजरी कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की है। पहली कार्रवाई गीताभवन चौराहे स्थित मार्केट स्पार्टन नामक कंपनी पर की गई। जहां जांच करने पर सामने आया कि उस कंपनी की वेबसाइट है, जिस पर भोपाल का फर्जी पता डला हुआ है। वहीं वेबसाइट पर खुद को रजिस्टर्ड बताया गया है।

14 लाख रूपए की ठगी हुई
एसपी ने बताया कि कंपनी ने निवेशकों के साथ 14 लाख रूपए की ठगी की है। मामले में दो संचालक पवन और आदर्श को गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही दूसरी कार्रवाई बंगाली चौराहे स्थित स्टाॅर इंटरप्राजेस कंपनी पर की गई। जिसके संचालक आकाश मंडल को गिरफ्तार किया गया है। इस कंपनी ने भी निवेशकों से 14 लाख रूपए की धोखाधड़ी की है। टीम ने कंपनी के रिकार्ड को जब्त किया है। इसके साथ ही बंगाली चौराहे पर एक अन्य कंपनी पर भी दबिश देकर अरविंद पाल और भरत राठौर को गिरफ्तार किया गया है।

Read More…50 साल बाद घर में जन्मी बेटी, तो गाजे-बाजे के साथ कराया गृह प्रवेश