इंदौर: पुलिस पर तलवार से जानवेला हमला, दो पुलिसकर्मी घायल

इंदौर/आकाश धोलपुरे

इंदौर जिले की सांवेर पुलिस पर सोमवार को धारदार हथियार से जानलेवा हमला हुआ है। बताया जा रहा है कि इंदौर-उज्जैन रोड स्थित धरमपुरी बायपास पर पंक्चर दुकान चलाने वाले रामचंद्र कुमावत ने अपने बेटे सुनील कुमावत के साथ मिलकर एक प्रकरण के सिलसिले में घर आये पुलिस जवानों पर धारदार हथियारों से जानलेवा हमला कर दिया। जिसके बाद घायल हुए 2 पुलसिकर्मियों को सांवेर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है, वहीं आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक इंदौर की सांवेर तहसील के धरमपुरी में सोमवार दोपहर दो पुलिसकर्मी चैनसिंह और गोविंद, सुनील नामक युवक पर दर्ज किए गए मामले के सिलसिले में रामचंद्र कुमावत के घर गए थे। अचानक घर पर आई पुलिस को देखकर रामचंद्र सहित पूरा परिवार चौंक गया और फिर वो पुलिसकर्मियों से विवाद करने लग गया। इसके बाद बेटे सुनील और पिता रामचंद्र ने घर में से धारदार तलवार निकालकर पुलिसकर्मी के सिर पर मारने की कोशिश की लेकिन पुलिसकर्मी गोविंद सिंह ने हाथ से तलवार को रोक दिया जिसके चलते वो घायल हो गया। वहीं दूसरे पुलिसकर्मी को विवाद के दौरान चोटें आई हैं। सांवेर के एसडीओपी एस. एस.परमार ने बताया कि मामले में घर की 3 महिलाओं सहित कुल 6 लोगों पर प्रकरण दर्ज किया गया है।

सांवेर एसडीओपी और पुलिस के मुताबिक सांवेर नगर परिषद अध्यक्ष के पति दिलीप चौधरी व रामचंद्र कुमावत के बीच पुराना विवाद है जिसे लेकर रामचंद्र का बेटा सुनील कुमावत अक्सर सोशल मीडिया पर अनर्गल कमेंट और बेवजह के आरोप लगाता है। इसी वजह से दर्ज हुए मामले में सांवेर पुलिस के जवान, रामचंद्र कुमावत के घर पहुंचे थे जहां उन पर हमला कर दिया गया। जानकारी के मुताबिक पुलिस से विवाद के बाद भी सुनील नामक युवक ने एक वीडियो बनाया है और उसने ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी कर दिया है जिसमे वो सरकार और पुलिस के आला अधिकारियों से मांग कर रहा है और सोमवार को हुए मामले की पारदर्शिता के साथ जांच कर उसके परिवार की मदद करने की अपील कर रहा है। फिलहाल, सांवेर पुलिस ने हमला करने वाले रामचंद्र और उसके बेटे को गिरफ्तार कर जांच शुरू कर दी है।