INDORE : लुटेरी दुल्हनों का कहर, किसान परिवार के तीन युवकों को बनाया शिकार, हुई फरार

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। इंदौर में एक बार फिर लुटेरी दुल्हनों ने तीन भाईयों को अपना शिकार बनाया और लूटकर फरार हो गई, मामला किसान परिवार से जुड़ा है, किसान के दो और उसके साढ़ू के एक बेटे को शादी के लिए लड़की नहीं मिल रही थी। दलालों ने तीनों का रिश्ता तय करने के बदले डेढ़-डेढ़ लाख रुपए मांगे। दलाल और किसान परिवार के बीच बनी सहमति के बाद तीन लड़कों का रिश्ता तय हो गया, हालांकि लुटेरी दुल्हनों का यह गिरोह सगाई के दौरान ही पैसे और जेवर लेकर फरार हो गया।

यह भी पढे…. लाखों कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, जुलाई में होगा बकाया एरियर का भुगतान, खाते में 40000 तक आएगी राशि

मामला इंदौर के नजदीक सांवेर तहसील के ग्राम पंचोला की है। यहाँ रहने वाले किसान जगदीश के परिवार को लुटेरी दुल्हन गैंग ने अपना शिकार बनाया, किसान जगदीश का कहना है कि आरोपियों ने उनसे 5 लाख रुपए की धोखाधड़ी की है। जगदीश ने बताया उनके दो बेटे लखन और प्रहलाद के साथ ही साढ़ू के बेटे जितेंद्र की शादी तय की थी। दलाल गणेश किसान के पास रिश्ता लेकर आया, उसने बताया कि रिश्ता लेकर आया था। गणेश ने किसान परिवार को बताया कि उसकी नजर में एक ऐसा परिवार है जो गरीब है उनकी तीन बेटियाँ है जो बहुत अच्छी है यह रिश्ता उनके बेटों के लिए ठीक रहेगा, इसके बाद लखन की शादी मधु के साथ, प्रहलाद की तनु और जितेंद्र की शादी रेखा के साथ तय हुई।

यह भी पढ़ें…. श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे का इस्तीफा, औपचारिक ऐलान जल्द, नए नाम की चर्चा तेज

दलाल गणेश ने महेश और सुंदरबाई को दोनों लड़कियों का रिश्तेदार बताया। जगदीश ने उनसे मुलाकात की, जहां तीनों ने शादी के लिए 2-2 लाख रुपए की डिमांड की। डेढ़-डेढ़ लाख में डील हुई। 7-8 जनवरी को दोनों बेटों की शादी होना थी। लड़कियों के परिजनों ने 13 दिसंबर को सगाई करने की बात कही जिसे किसान परिवार ने मान लिया जिसके बाद 13 दिसंबर को सगाई के दौरान दुल्हन के परिजनों ने छुपन-छुपाई की रस्म करने को कहा इसी दौरान दुल्हनों ने छुपने का नाटक किया और फिर तीनों ही फरार हो गई, वही उनके साथ ही दलाल गणेश, महेश और सुंदरबाई भी गायब हो गए लड़के वालों ने इन्हे तलाशा लेकिन इनका कुछ पता नहीं चला, किसान परिवार का आरोप है कि इस दौरान लुटेरी दुल्हने जेवर और करीबन 5 लाख रुपये लेकर फरार हो गई, इन्हे तलाशने किसान परिवार ने बहुत प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हुए, पीड़ित परिवार ने अब इंदौर में मामला दर्ज करवाया है जहां पुलिस इनकी तलाश में जुट गई है।