इंदौर : अब तक पुलिस नहीं लगा पाई आरोपियों का सुराग कि आखिर गरबे में मासूम को गोली किसने मारी

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। इंदौर के हीरा नगर में गरबे के दौरान मासूम माही की गोली लगने से मौत के मामलें में अब तक पुलिस आरोपियों तक नहीं पहुँच पाई है, ना ही उनका कोई सुराग लगा पाई है, वही मासूम के परिजन अपने स्तर पर अब हत्यारों को तलाशने की कोशिश कर रहे है। माही के पिता अब अपनी किराने की दुकान बंद कर गली गली जासूसी करते फिर रहे है कि कोई सुराग बेटी के हत्यारों का उन्हे मिल जाए।

यह भी पढ़ें…. दिग्गज नेता और विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज मंडावी का हार्ट अटैक से निधन, सदमे में कांग्रेस, CM ने जताया शोक

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में इंदौर के हीरा नगर थाना क्षेत्र से एक दर्दनाक हादसा हुआ था। जहां  अचानक गोली लगने से गरबा पंडाल में 11 वर्षीय बच्ची की मौत हो गई थी। यहाँ गरबा पंडाल में माही अपनी माँ के साथ गरबा देख रही थी, माही माँ की गोद में बैठी थी कि अचानक उसी समय कही से गोली चली और अचानक माही के सिर में जा घुसी, माही के सिर से खून निकलता देख उसकी माँ हैरान रह गई वह फौरन उसे लेकर घर दौड़ी और फिर अस्पताल लेकिन अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई, अब घटना के इतने दिन बाद भी गोली कहां से चली किसने चलाई ये पता लगाना पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई है।

यह भी पढ़ें…. कच्चे तेल के घटते दाम ने बढ़ाई चिंता, MP के इन शहरों में महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, जानें आज का ताजा भाव

माही के पिता संतोष शिंदे ने खुद हत्यारे को ढूंढने की ठान रखी है। वह हर ऐसे शख्स पर शक कर रहे हैं जो उनकी बेटी माही की मौत का संदिग्ध लगता है। उन्होंने हादसे के दिन की जानकारी भी इकट्ठा की है। उनका दावा है कि हादसे के दूसरे दिन ही पुलिस उनके इलाके में दिखी थी। उसके बाद से अफसर कोई रिस्पॉन्स नहीं दे रहे हैं। अब संतोष पता लगा रहे है कि जिस दिन माही को गोली लगी उस दिन इलाके में कौन-कौन सी जगह जन्मदिन पार्टी थी या किसी के बीच विवाद हुआ था, संतोष ने ऐसे ही कुछ सबूत पुलिस को भी दिए है, फिलहाल पुलिस भी इस मामलें में जांच का दावा कर रही है।