इंदौर में कम होगा ट्रैफिक का दबाव, पश्चिमी रिंग रोड से निकाले जाएंगे वाहन, दूरी के मुताबिक लगेगा शुल्क

इंदौर में बढ़ते वाहनों के दबाव को कम करने के लिए अब भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण नया रिंग रोड बनाने की कवायद में जुटा हुआ है। फिलहाल जमीन अधिग्रहण का काम चल रहा है।

Diksha Bhanupriy
Published on -
Indore uiijan Road

Indore Western Ring Road: इंदौर में जितना विकास होता जा रहा है यहां का ट्रैफिक भी उतना ही ज्यादा होता जा रहा है। वाहनों की रेलमपेल से छुटकारा दिलाने के लिए अब नए रिंग रोड के निर्माण पर जोर दिया जा रहा है। इस रोड के बन जाने से वाहनों को शहर में प्रवेश ना देते हुए बाहर से ही निकाल दिया जाएगा। वाहन बाहर से निकल जाने के चलते शहर में ट्रैफिक का दबाव कम होगा।

जितनी दूरी उतना शुल्क

इस रिंग रोड को 8 से 10 स्थानों से जोड़ा जाने वाला हैं। वहीं सबसे खास बात ये है की वाहन जितनी दूरी तय करेंगे उनसे उतना ही शुल्क लिया जाएगा। सेंसर संचालित बूथ मार्ग पर बनाए जाएंगे। जैसे ही वाहन रिंग रोड पर आएंगे फास्टैग के माध्यम से शुल्क काट लिया जाएगा। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अधिकारियों के मुताबिक ये पहला बिना टोल प्लाजा वाला मार्ग होगा।

दो टुकड़ों में होगा निर्माण

इस पश्चिमी रिंग रोड का निर्माण दो हिस्से में किया जाने वाला है। एक मार्ग 34 किमी का होगा जो रामपुर से हातोद तक है। वहीं 30 किमी का दूसरा मार्ग हातोद से शिप्रा के बीच रहेगा। लगभग 200 किसानों की जमीन इस मार्ग के निर्माण के बीच आ रही है, जिसका अधिग्रहण किया जाएगा। विभाग द्वारा दावे और आपत्तियां बुलवाई गई है इसके बाद मार्च में टेंडर खोला जाएगा। टेंडर की मंजूरी मिलने के बाद निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा।


About Author
Diksha Bhanupriy

Diksha Bhanupriy

"पत्रकारिता का मुख्य काम है, लोकहित की महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना और उस जानकारी को संदर्भ के साथ इस तरह रखना कि हम उसका इस्तेमाल मनुष्य की स्थिति सुधारने में कर सकें।” इसी उद्देश्य के साथ मैं पिछले 10 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रही हूं। मुझे डिजिटल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कॉन्टेंट राइटिंग करना जानती हूं। मेरे पसंदीदा विषय दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली समेत अन्य विषयों से संबंधित है।

Other Latest News