इंदौर की पहल बनी केंद्र की मुहिम, कचरा कलेक्शन वाहनों से दिया गया ये संदेश, लोगों ने की सराहना

इन वाहनों में लाउड स्पीकर के जरिये ये भी संदेश दिया कि वो लॉक डाउन के साथ कोविड नियमो का पालन जरूर करें। स्वच्छता का संदेश देने वाले वाहनों के जरिये बताया गया कि 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक चलाये जा रहे टीकाकरण महोत्सव में जरूर भाग लें।

इंदौर

इंदौर, आकाश धोलपुरे। प्रदेश के अन्य शहरों की तरह इंदौर (indore) में भी 19 अप्रैल तक लॉकडाउन (lockdown) जारी रहेगा। इधर, इंदौर में पिछले सप्ताह चलाये गए टीकाकरण महोत्सव (vaccination festival) से प्रेरणा लेकर केंद्र सरकार (central govenrment) ने देशभर (nationwide) में टीकाकरण महोत्सव की तैयारी शुरू कर दी थी। जिसके चलते समूचे भारत में 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक टीकाकरण को मिशन के साथ ही महोत्सव का स्वरूप देने की तैयारी की जा चुकी है। लिहाजा, आज 11 अप्रैल ज्योतिबा फुले की जयंती से टीकाकरण महोत्सव शुरू किया जाएगा और 14 अप्रैल को संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर इसका समापन होगा। केंद्र सरकार को उम्मीद है कि बड़ी संख्या में इस महोत्सव में टीकाकरण किया जाएगा। बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (central health ministry) ने शनिवार को कहा कि भारत ने 85 दिन में 10 करोड़ टीके लगाए हैं और वह दुनिया (world) का सबसे तेज टीकाकरण अभियान चलाने वाला देश बन गया है। मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका को टीके की 10 करोड़ खुराक देने में 89 दिन लगे जबकि चीन को इस कार्य में 102 दिन लग गए।

यह भी पढे़ं… रायसेन: मछली पकड़ने गए 3 नाबालिगों की तालाब में डूबने से मौत

इधर, देश के जिस शहर से केंद्र सरकार ने टीका उत्सव की सीख ली वहां का नजारा आज कुछ अलग था। यहां निगम के कचरा संग्रहण वाहनों के जरिये सुबह – सुबह लोगो को संदेश दिया गया कि 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोग अपने नजदीकी टीकाकरण केंद्र पर जाकर कोरोना वैक्सीन जरूर लगवाये। वहीं इन वाहनों में लाउड स्पीकर के जरिये ये भी संदेश दिया कि वो लॉक डाउन के साथ कोविड नियमो का पालन जरूर करें। स्वच्छता का संदेश देने वाले वाहनों के जरिये बताया गया कि 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक चलाये जा रहे टीकाकरण महोत्सव में जरूर भाग ले।

यह भी पढे़ं… सरकारी फरमान, स्कूलों के टीचर अब लगवायेगे बच्चों के मम्मी पापा के वैक्सीन

फिलहाल, इंदौर कोरोना की रडार पर है ऐसे में प्रशासन और निगम की इस पहल से लोगों में विश्वास जागा है और माना जा रहा है कि पूर्व 2 अप्रैल से 4 अप्रैल तक मनाए गए महोत्सव की ही तरह देशव्यापी अभियान भी सफल होगा।