Indore Law College : विवादित किताब मामले में बयान देने छात्राओं संग पहुंचा शिक्षक, समिति ने लगाई फटकार

Indore Law College Controversy: लॉ कॉलेज इंदौर में मानों विवादों का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा। विवादास्पद किताब कॉलेज की लाइब्रेरी से मिलने के बाद आरएसएस और बजरंग दल ने गंभीर आपत्ति जताई थी। इस आपत्ति के बाद प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पुलिस कमिश्नर को जांच के आदेश दिए थे। साथ ही कॉलेज के 6 शिक्षकों पर इस विवादित किताब से पढ़ाने के और धार्मिक उन्माद फैलाने जैसे गंभीर आरोप लगे। मामले के तूल पकड़ने के बाद कॉलेज के प्राचार्य ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

अपने बचाव के लिए छात्राओं को साथ ले गया शिक्षक

मामला उजागर होने के बाद जांच के लिए 4 सदस्यीय समिति का गठन किया गया। रविवार के दिन एक शिक्षक कुछ छात्राओं को लेकर अपने बचाव के लिए अतिरिक्त संचालक के कार्यालय जा पहुंचे। प्रोफेसर मिलिंद गौतम नाम के शिक्षक छात्राओं को अपने पक्ष में बयान दिलाने के लिए लाए थे। जब समिति के सदस्यों ने छात्राओं से उनके आने की वजह पूछी तो छात्राओं ने बताया कि उन्हें मिलिंद गौतम लेकर आए हैं। ये पता चलते ही समिति के सदस्यों ने न केवल शिक्षक को जमकर फटकार लगाई, बल्कि छात्राओं के बयान लेने से भी इनकार कर दिया।

शिक्षक को थमाया जाएगा नोटिस, मांगा जाएगा जवाब

आपको बता दें कि आज विवादास्पद किताब मामले में महाविद्यालय के प्राध्यापक, स्टाफ और 13 शिक्षकों के बयान दर्ज किए गए हैं। इसी के चलते शिक्षक मिलिंद गौतम छात्राओं को कार्यालय लेकर पहुंचे थे। छात्राओं के कार्यालय पहुंचने की जानकारी मिलते ही एबीवीपी ने इस पर गंभीर आपत्ति जताई जिसके बाद समिति ने बताया कि छात्राओं को यथावत वापिस भेज दिया। अब विद्यालय परिसर में ही विद्यार्थियों के बयान लिए जाएंगे। शिक्षक द्वारा की गई इस हरकत के बाद समिति शिक्षक को नोटिस थमाने और उससे लिखित जवाब मांगने की तैयारी कर रही है।