इंदौर।

किसान आक्रोश आंदोलन भले ही खत्म हो गया हो लेकिन बीजेपी-कांग्रेस में बयानबाजी का दौर तेजी से चल रहा है। दोनों ही दल के नेता एक दूसरे पर जमकर छींटाकशी करने में लगे हुए है। अब कमलनाथ सरकार में पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने बीजेपी के राष्‍ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बयान पर पलटवार किया है। विजयवर्गीय ने कहा कि मंत्रियों की औकात क्या है, उनके बारे में क्या प्रतिक्रिया दें। जिनकी औकात होती है उनके बारे में प्रतिक्रिया दी जाती है।

दरअसल, मंगलवार को इंदौर पहुंचे मंत्री वर्मा ने कैलाश और उनके बेटे आकाश पर जमकर हमला बोला था और कहा था कि पिता-पुत्र बौखला गए हैं। बेटा कह रहा है कि वह खाली हाथ नहीं चलता, वहीं पिता कह रहे हैं कि हम सरकार गिरा देंगे। जल्द ही पेंशन घोटाले की रिपोर्ट आएगी, जिसने गरीबो का पैसा खाया उन्हें हम छोड़ने वाले नहीं हैं। इंदौर के पेंशन घोटाले की सरकार ने फाइल तैयार कर ली है, लिहाजा अब कभी भी कैलाश को लोहे के कड़े पहनाए जा सकते हैं।

इस पर कैलाश ने पलटवार किया और कहा है कि मंत्रियों की औकात क्या है, उनके बारे में क्या प्रतिक्रिया दें. जिनकी औकात होती है उनके बारे में प्रतिक्रिया दी जाती है, जबकि अपने बेटे आकाश विजयवर्गीय के धमकी वाले बयान पर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मैं भी खाली हाथ नहीं चलता। मेरे हाथ में कागज होता है। वही कैलाश विजयवर्गीय ने मुख्यमंत्री कमलनाथ की दुबई यात्रा पर चुटकी लेते हुए कहा कि  हमारा तीर्थ बद्रीनाथ, केदारनाथ है, लेकिन विपक्ष का तीर्थ थाईलैंड हैं इसलिए राहुल गांधी वहां यात्रा पर जाते हैं।हैं। वहीं प्रदेश में अंडे को लेकर मचे बवाल पर कहा कि बच्चों को पौष्टिक आहार देने के और भी तरीके  हैं। मुख्यमंत्री को जनभावना का सम्मान करना चाहिए।