यहां से लोकसभा चुनाव लड़ सकते है कैलाश विजयवर्गीय

Kailash-Vijayvargiya-can-contest-Lok-Sabha-elections-from-here

इंदौर। आकाश धौलपुरे। लोकसभा चुनाव से पहले दिग्गज नेताओं के लोकसभा चुनाव लड़ने के कयास लगाए जा रहे हैं| इंदौर में बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पार्टी के राष्ट्रीय महसचिव कैलाश विजयवर्गीय इंदौर से मैदान में उतर सकते हैं| चुनाव लड़ने के सवाल पर उन्होंने कहा है कि पार्टी आदेश करेगी तो जरुर लडूंगा। इंदौर में आयोजित होने वाले सायक्लोथॉन का पूर्व अभ्यास करते रविवार सुबह  भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय शहर की सड़कों पर सायकल पर सवार होकर पर्यावरण -स्वास्थ्य के लिये साईकिलिंग के महत्व को बताते हुए नजर आए।  सायकल की सवारी के बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत की और एक बार प्रदेश की कांग्रेस सरकार को बातों ही बातों में चेता दिया कि कभी भी प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हो सकता है । वही अपने लोकसभा चुनाव लड़ने को लेकर कहा कि अगर पार्टी आदेश करेगी तो जरुर लडूंगा। आदेश होगा तो मैं मना नहीं करूंगा। मैने पार्टी को अपनी मंशा बता दी, लेकिन अभी मेरा पूरा फोकस पश्चिम बंगाल पर है पार्टी ने मुझे ये जिम्मेदारी दी । हालांकि, इंदौर की उम्मीदवारी पर उन्होंने साफ इंकार नही किया जिसके चलते वर्तमान सांसद और लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की उम्मीदवारी पर संकट के बादल मंडराते नजर आ रहे है।

पत्रकारों से चर्चा के दौरान विजयवर्गीय ने कहा कि अब मैं सरकार को लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दूंगा लेकिन मौका आएगा तब इसका जवाब उन्हें खुद मिल जाएगा  इस बार उन्होंने सीधे सीधे कुछ नही कहा लेकिन ये जरूर माना कि बॉस का आदेश होगा तो प्रदेश में दोबारा बीजेपी आ जायेगी। उन्होंने स्पष्ट ना कहते हुए सब कुछ भविष्य पर छोड़ दिया। इंदौर में बढ़ रही आपराधिक गतिविधियों का कारण उन्होंने बदलाव को बताया।उन्होंने कहा कि शायद यही है वक्त बदलाव का। पहले गुंडे पुलिस से डरते थे लेकिन अब गुंडे बेखौफ होकर आम लोगों को डरा रहे हैं । अब हालात अलग है।गुंडों के कारण जनता में भय है। अपराधियों के हौंसले बुलंद हो गए है।  वहीं इंदौर बीआरटीएस को उखाड़ कर फेंक देने के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के बयान पर कैलाश ने कहा कि मंत्री को पद की शपथ लेने के बाद ऐसी बयानबाजी नहीं करना चाहिए ।