इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर के पास स्थित सुप्रसिद्ध पितरेश्वर हनुमान मंदिर पर कैलाश विजयवर्गीय ने 1100 किलो आम का भोग चढ़ाया। विभिन्न प्रजातियों के इन आमों को बाकायदा ऋृंगारित करके हनुमान जी के ऊपर चढ़ाया गया।

Ratlam News : घोड़ों से सजी बग्घी, गुब्बारे वाला वाहन कर रहे वैक्सीनेशन के लिए जागरूक

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय मैं इंदौर में शनिवार को पितरेश्वर हनुमान मंदिर पर हनुमान जी को 1100 किलो आम का भोग चढ़ाया। देवी अहिल्या बाई होलकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से पितरेश्वर हनुमान धाम की दूरी करीब 3 किलोमीटर है। यह स्थान रेलवे स्टेशन से करीब 11 किलोमीटर और गंगवाल बस स्टैंड से करीब 8 किलोमीटर दूर है। पितरेश्वर हनुमान मूर्ति को लगवाने से लेकर प्राण-प्रतिष्ठा तक का श्रेय भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और उनकी पूरी टीम को जाता है। पितरेश्वर हनुमान धाम का इतिहास भी बेहद दिलचस्प है। 2002 में कैलाश विजयवर्गीय इंदौर के महापौर थे और उन्हें विचार आया कि क्यों न देवधरम टेकरी पर हनुमानजी की सबसे बड़ी मूर्ति लगाई जाए। यहीं पर उन्होंने शहर के लोगों से आग्रह किया कि वे ‘पितृ पर्वत’ पर अपने स्वर्गीय परिजनों के नाम से एक पौधा लगाएं, जिसकी देखभाल इंदौर नगर निगम के कर्मी करेंगे। 18 सालों में लोगों ने पितृ पर्वत पर सैकड़ों पौधे रोपे जिसमें से कई तो विशाल वृक्ष का रूप ले चुके हैं। यहां पर हनुमानजी की मूर्ति स्थापित होने के बाद इस स्थान का नया नामकरण ‘पितरेश्वर हनुमान धाम’ हो गया है। यानी पितृ पर्वत अब पितरेश्वर हनुमान धाम से जाना जाएगा।