आकाश 15 हजार कम वोटों से जीता तो समझूंगा जनता नाराज है : कैलाश विजयवर्गीय

Kailash-Vijayvargiya-said-If-the-aakash--wins-less-than-15-thousand-votes

भोपाल/इंदौर।

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे भले ही 11  दिसंबर को आएंगें लेकिन उससे पहले शुक्रवार को आए एग्जिट पोल ने राजनैतिक दलों की नींद उड़ा दी है।एक्जिट पोल के बाद एक के बाद एक नेताओं के बयान सामने आ रहे है। जहां कांग्रेस में खुशी की लहर है वही भाजपा में बैचेनी बढ़ गई है। हालांकि भाजपा फिर भी इन पोल के नतीजों को नकार रही है और अब भी जीत का दावा ठोक रही है। इसी बीच भाजपा के महासचिव का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने एक्जिट पोल के नतीजों के बाद भी भाजपा की जीत का दावा किया है। वही उन्होंने कहा है कि अगर आकाश 15 हजार से कम वोटों से जीता तो समझूंगा जनता नाराज है।  

दरअसल, एक्जिट पोल के बाद विजयवर्गीय ने मीडिया से चर्चा की और यह बात कही। विजयवर्गीय ने कहा कि एग्जिट पोल पर बहुत ज्यादा कुछ नहीं कह सकते। मुख्यमंत्री के विकास कार्य और सरकार की तमाम योजनाओं का लाभ मिलेगा। प्रदेश में बड़े बहुमत से भाजपा की सरकार बनेगी। वही इंदौर तीन से भाजपा प्रत्याशी और बेटे आकाश विजयवर्गीय की जीत को लेकर कैलाश आश्वस्त नजर आए। उन्होंने कहा कि उनके बेटे आकाश विजयवर्गीय विधानसभा 3 से आकाश इतने वोटों से जीतेंगे, जिसकी किसी ने कल्पना नहीं की होगी। यदि 15 हजार से कम वोटों से कम से जीते तो मैं समझूंगा कि इस शहर की सेवा करने में मुझसे कोई कसर रह गई।  

बता दे कि चुनाव में विधानसभा 3 नंबर सबसे ज्यादा चर्चा में है। इस सीट से कैलाश की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। यहां की वर्तमान विधायक उषा ठाकुर का टिकट काटकर आकाश को लड़ाया जा रहा है, उनका मुकाबला तीन बार विधायक रहे कांग्रेस के अश्विन जोशी से है।

क्या कहता है एक्जिट पोल

आज तक के मुताबिक, मध्यप्रदेश में भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर है। इस एजेंसी के मुताबिक, मध्यप्रदेश में भाजपा को 102 से 120 सीटें मिलती नजर आ रही हैं। कांग्रेस के खाते में 102 से 122 सीटें जाती दिख रही हैं। अन्य के खाते में 4 से 11 सीटें जा सकती हैं। 

एबीपी और सीएसडीएस के एग्जिट पोल के मुताबिक मध्य प्रदेश के चंबल की 34 सीटों में से 36 प्रतिशत भाजपा के खाते में गईं, कांग्रेस को 43 प्रतिशत सीट मिल रही हैं। भाजपा को यहां 10 सीटें मिल सकती है, काग्रेस को 21 सीटें मिल सकती है और अन्य को तीन सीट मिल सकती हैं। एबीपी के अनुसार विध्य की 56 सीटों में से भाजपा को 20 सीट, कांग्रेस को 33 सीट और अन्य को 3 सीट मिल सकती हैं।

इंडिया टुडे- एक्सिस माय इंडिया के सर्वे के अनुसार मप्र में कांग्रेस को 41 प्रतिशत और भाजपा को 40 प्रतिशत सीट मिलने की संभावना है। कांग्रेस को 104 से 122 सीट तो भाजपा को 102 से 120 मिल सकती हैं।