कमलनाथ के मंत्री के बयान से बीजेपी में खलबली, विधायकों पर पैनी नजर

kamalnath-s-minister-big-statement

इंदौर।

विधानसभा में हुए शक्ति परीक्षण के बाद कांग्रेस द्वारा लगातार विधायकों के सपंर्क होने का दावा किया जा रहा है।कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री लाखन सिंह के बाद अब मंत्री जीतू पटवारी ने बड़ा बयान दिया है। मंत्री पटवारी का कहना है कि भाजपा के भाई साहब इधर-उधर के बयान न दें, अभी दो आए आने वाले दिनों में 4-5 और आ जाएंगे। मंत्री के बयान के बाद बीजेपी में खलबली मची हुई। आए दिन मंत्रियों की बयानबाजी ने बीजेपी के माथे पर चिंता की लकीरे खींच दी है, हालांकि बीजेपी अपने विधायकों पर पूरी नजर जमाए हुए है।

दरअसल, मंगलवार को जीतू इंदौर पहुंचे थे, जहां उन्होंने मीडिया से चर्चा करते हुए बीजेपी की बयानबाजी पर जमकर हमला बोला और कहा कि भाजपा के भाई साहब कहते हैं कि 15 दिन में सरकार गिरा देंगे। यह लंगड़ी सरकार है। एक और दो नंबर का आदेश हो तो 24 घंटे में मप्र की सरकार गिरा देंगे। मेरे इंदौर वाले भाई साहब, विदिशा और बुधनी वाले भाई साहब के साथ ही भाजपा के सभी भाई साहबों से कहना है कि इस तरह के बयानों से परेशान होकर अभी तो भाजपा के दो विधायक ही कांग्रेस के समर्थन में आए हैं यदि इन भाई साहबों ने बयानबाजी बंद नहीं की ताे आने वाले दिनों में 4-5 और आ जाएंगे।

मंत्री पटवारी ने कहा कि भाजपा में भाई साहबों की संख्या बढ़ गई है। आपस में फूट बढ़ी है, इसलिए भाजपा के दो विधायक कांग्रेस के समर्थन में वोट कर रहे हैं। बीजेपी में ऐसे ही हालात रहे तो आने वाले दिनों में चार से पांच विधायक भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे, आप सभी नोट कर लें।

गौरतलब है कि कांग्रेस की ओर से बीजेपी के कई विधायकों के पार्टी के संपर्क में होने की बात कही जा रही है।   मंगलवार को मंत्री लाखन सिंह ने दावा करते हुए कहा था कि मध्य प्रदेश में बीजेपी का दांव उल्टा पड़ गया है, अभी दो विधायक बीजेपी के कांग्रेस में शामिल हुए हैं, जल्द ही छह विधायक और कांग्रेस में शामिल होने जा रहे हैं।  इससे पहले जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा और कंप्यूटर बाबा द्वारा बीजेपी के विधायकों के संपर्क में होने का दावा किया गया था और अब मंत्री जीतू पटवारी ने दावा कर सियासी गलियारों में हलचल तेज कर दी है।वही कांग्रेस नेताओं की बयानबाजी के बाद बीजेपी ने विधायकों पर चौकसी रखना शुरु कर दिया है। हर विधायकों पर पैनी नजर रखी जा रही है।