थप्पड़ कांड : पार्षद के बचाव में उतरी नेता प्रतिपक्ष, कहा महापौर का रवैया है तानाशाह

-leader-of-oppotion-in-defense-of-councilor-allegation-against-indore-mayor-

इंदौर| आकाश धोलपुरे|  सोमवार को शहर के चंदन नगर क्षेत्र के लोहा वाला गेट के करीब हुए थप्पड़ कांड पर अब राजनीति गरमाने लगी है। जहां शहर की महापौर मालिनी गौड़ निगमकर्मियों का बचाव कर रही है और निगमकर्मीयो द्वारा थप्पड़ मारकर गाली गलौच करने वाले वार्ड क्रमांक 2 के पार्षद मुबारिक मंसूरी सहित उनके समर्थकों पर प्रकरण दर्ज करा रहे है वही दूसरी और निगम की नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस पार्षद दल की नेता फौजिया शेख अलीम ने महापौर सहित निगम अधिकारियों व कर्मचारियों की कार्यप्रणाली पर ही सवाल उठा दिए। दरअसल, शहर के चंदन नगर थाना क्षेत्र में अमानक पॉलिथीन को लेकर एक दुकानदार पर 2 हजार रुपए की चालानी कार्रवाई की गई थी जिसके बाद निगमकर्मियों ने क्षेत्रीय पार्षद मंसूरी और समर्थकों के खिलाफ निगम के उच्च अधिकारियों और महापौर को मय वीडियो जानकारी दी थी। मौके पर पार्षद द्वारा निगमकर्मी को थप्पड़ मारा गया और गाली गलौच की गई।

नेता प्रतिपक्ष ने लगाए ये गम्भीर आरोप

थप्पड़ कांड की गूंज का शोर थमने का नाम नही ले रहा है। निगम की नेता प्रतिपक्ष फौजिया शेख अलीम ने कहा कि निगमकर्मियों को महापौर और उच्च अधिकारियों की शह है जिसके चलते वे शहरभर में गुंडागर्दी करते है। निगम के सीएसआई सहित अन्य कर्मचारी अवैध वसूली करते है और कभी कर्मशियल टैक्स के नाम पर तो कभी कचरा शुल्क के नाम पर लोगो को धमकाते है। ना ही निगम के सीएसआई और दरोगा स्तर के कर्मचारियों का कोई ड्रेस कोड है और ना उनका व्यवहार आम जनता के प्रति ठीक है। नेता प्रतिपक्ष ने कांग्रेसी पार्षद मंसूरी के वायरल हुई वीडियो को एडिटेड बताया और कहा कि कुछ समय पहले महापौर के साथ चल रहे निगमकर्मी संतोष गौहर ने एक 65 वर्षीय बुजुर्ग की पिटाई कर दी थी जिसका वीडियो उनके पास है। उन्होंने कहा तब तो महापौर मालिनी गौड़ ने कोई कार्रवाई नही की थी वही उन्होंने ये भी आरोप लगाए की महापौर निगम आकर बैठती नही है उनके तानाशाह रवैये का ही परिणाम है कि निगम के अधिकारी आम जनता की नही सुनते है। उन्होंने कहा कि ताजा मामले में पार्षद मुबारिक मंसूरी निर्दोष है वही नि���मकर्मी आए दिन गुंडागर्दी कर रहे है।