लॉकडाउन: डोर टू डोर अनिवार्य वस्तुओं को पहुंचाने की कवायद में जुटा प्रशासन

इंदौर।आकाश धोलपुरे।

कोरोना वायरस संक्रमित मरीज़ो की संख्या इंदौर में लगातार बढ़ रही है, जिसके चलते प्रशासनिक अधिकारियों की भी चिंता बढ़ा रही है। एक तरफ जहां लोगों को कर्फ्यू के दौरान छूट वाले समय में कम से कम बाहर निकालने के उद्देश्य से प्रशासन द्वारा ऑड और इवन नंबर फार्मूला 28 मार्च से लागू किया जाएगा। वहीं अब नगर निगम ने भी वार्ड स्तर पर आवश्यक सेवाओं की पूर्ति के लिए मैदान संभाल लिया है। अब निगम डोर टू डोर कचरा कलेक्शन की तर्ज पर डोर टू डोर सब्जी, किराना, दूध और फल जे विक्रय और वितरण करवाने की कवायद में जुट गया है।

इंदौर नगर निगम के आयुक्त आशीष सिंह ने शहर को पांच झोन में बांट कर हर जोन का इंचार्ज 1 अपर आयुक्त को बनाया है। सभी अपर आयुक्त अपने स्तर पर सीएसआई, जेडों,और वॉर्ड स्तर के कर्मचारियों की बैठक लेकर उन्हें प्रक्रिया के संचालन की समझाइश दे रहे हैं। इसी कड़ी में निगम के अपर आयुक्त देवेंद्र सिंह ने आज झोन 8 में बैठक लेकर निगम कर्मचारियों को वॉर्ड स्तर पर आयुक्त के निर्देशों का सख़्ती से पालन करवाने के निर्देश दिए। इस दौरान कर्मचारियों को यह भी बताया गया कि आदेश की अवहेलना करने वाले और काम में लापरवाही करने वाले कर्मचारियों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही के साथ एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी।

अपर आयुक्त के मुताबिक शहर के हर वार्ड में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन की तर्ज पर सब्जी, किराना, दूध और फल के लिए वाहन चलाए जाएंगे, ताकि लोग कम से कम घरों से बाहर निकले और कोरोना वायरस संक्रमण पर पूरी तरह रोक लगाई जा सके।