महिला अधिकारी पर लोकायुक्त का शिकंजा, रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

रिश्वतखोर उपयंत्री पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 2018 की धारा 7 के अंतर्गत कार्यवाही की गई।

इंदौर, आकाश धोलपुरे।  इंदौर लोकायुक्त (Lokayukta) ने मंगलवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए दो दिन में तीसरे जिम्मेदार सरकारी अधिकारी की गैरजिम्मेदाराना हरकत को उजागर किया है। लोकायुक्त की टीम ने डीएसपी प्रवीण सिंह बघेल के नेतृत्व में कार्रवाई कर 4500 की रिश्वत (Bribe) लेते उपयंत्री जनपद पंचायत को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

महिला अधिकारी पर लोकायुक्त का शिकंजा, रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

लोकायुक्त के मुताबिक फरियादी अशोक शर्मा ग्राम पंचायत रंगवासा स्थित राज लक्ष्मी पैलेस में एक भूखंड जो कि लक्ष्मी वर्मा के नाम पर है उस पर मकान के निर्माण के लिए नक्शा पास करवाना था लेकिन जनपद पंचायत की उपयंत्री गीता विजयवर्गीय द्वारा अशोक शर्मा से काम के एवज में 5000 रुपये की रिश्वत की मांग की जा रही थी। जिसके बाद फरियादी अशोक शर्मा ने लोकायुक्त की शरण ली।

ये भी पढ़ें – लेडी चोरों का आतंक, देर रात बनाया वाहन को निशाना, घटना के सीसीटीवी वायरल

शिकायत के बाद लोकायुक्त की टीम ने पूरे मामले की कॉल रिकार्डिग करवाई और जब जिसमें बातचीत के दौरान रिश्वत की रकम 4500 फिक्स हुई तब मंगलवार को ट्रेप की कार्रवाई के लिए उपयंत्री के घर फरियादी अशोक शर्मा को लेनदेन की रकम के साथ पहुंचाया गया। इसके बाद लोकायुक्त की टीम ने सुश्री गीता विजयवर्गीय को उनके निवास स्कीम नंबर 54 से 4500 रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ ट्रेप किया और फिर रिश्वतखोर उपयंत्री पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 2018 की धारा 7 के अंतर्गत कार्यवाही की गई।

डीएसपी लोकायुक्त प्रवीण सिंह बघेल बे बताया कि लगातार मिल रही शिकायतों के बाद लोकायुक्त पुलिस सक्रिय है और इसी सिलसिले में आज एक और कार्रवाई को अंजाम देकर रंगे हाथ सरकार अधिकारी को ट्रेप किया गया है।