कांग्रेस को जीत का ताज पहनाने वाले मालवा-निमाड़ के खाते में आए बड़े मंत्रालय

3252
Major-ministry-in-the-account-of-Malwa-Nimad

इंदौर।

लंबी खींचतान के बाद शुक्रवार देर रात कमलनाथ कैबिनेट मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा कर दिया गया है।इसका सबसे ज्यादा लाभ सरकार को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले मालवा-निमाड़ और इंदौर संभाग को मिला। यहां के नौ ही मंत्रियों को महत्वपूर्ण विभाग दिए गए हैं। वही इंदौर संभाग के सात मंत्रियों को 16 विभाग मिले हैं।इसमें भी उच्चशिक्षा, गृह, जेल, लोकनिर्माण, लोक स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा, जल संसाधन, वन, किसान कल्याण, नर्मदा घाटी विकास और पर्यटन व पर्यावरण जैसे विभाग शामिल हैं।

दरअसल,  जीत के बाद से ही नई सरकार में मालवा निमाड़ का दबदबा रहा है। यहां के कई ऐसे विधायक भी चुनाव जीते हैं, जो दिग्विजय सिंह सरकार में मंत्री थे। हालांकि विभागों के बंटवारे में भले ही पसंद को तवज्जो नहीं दी गई, लेकिन वरिष्ठ मंत्रियों को महत्वपूर्ण विभाग सौंपे गए हैं।  वही यहां से जीते नौ मंत्रियों को महत्वपूर्ण विभाग दिए गए हैं।  इसमें जल संसाधन, चिकित्सा, लोकनिर्माण, लोकस्वास्थ्य, गृह, वन, उच्चशिक्षा, नर्मदा घाटी, पर्यावरण और पर्यटन जैसे बड़े मंत्रालय आए। जहां राउ के जीतू पटवारी को खेल एवं युवा कल्याण, उच्च शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई वही सांवेर तुलसी सिलावट को लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग मिले।हालांकि जीतू पटवारी जनसंपर्क चाहते थेऔर तुलसी सिलावट के लिए गृह विभाग मांगा गया था।लेकिन सब बातों को दरकिनार कर दिल्ली हाईकमान ने लंबी चर्चा के बाद इस तरह विभागों का बंटवारा कर दिया।इससे कुछ मंत्री असंतुष्ट भी दिखे।

मालवा-निमाड़ से ये मंत्री और उनके विभाग

मुख्यमंत्री कमलनाथ – जनसंपर्क, तकनीकी शिक्षा, रोज़गार, कौशल विकास,औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन,विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, अप्रवासी भारतीय एवं वो सारे विभाग जो किसी को आवंटित ना हों.

डॉ विजयलक्ष्मी साधौ- संस्कृति, चिकित्सा शिक्षा,आयुष विभाग

सज्जन सिंह वर्मा-लोक निर्माण और पर्यावरण

हुकुम सिंह कराड़ा-जल संसाधन

जीतू पटवारी -खेल एवं युवा कल्याण, उच्च शिक्षा

तुलसी सिलावट- लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण

बाला बच्चन- गृह,जेल और मुख्यमंत्री से संबद्ध

तरुण भनोट- वित्त, योजना एवं आर्थिक-सांख्यिकी विभाग

उमंग सिंगार – वन विभाग 

सचिन यादव -कृषि, उद्यानिकी, किसान कल्याण और खाद्य प्रसंस्करण

सुरेन्द्र सिंह बघेल- नर्मदा घाटी विकास, पर्यटन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here