शादी में लड़के वालों ने रखी थी ये डिमांड, लड़की वालों ने नहीं मानी तो तोड़ा रिश्ता, थाने पहुंचा मामला

सिर्फ दहेज में कार (car) नहीं देने के चलते लड़के वालों ने रिश्ता तोड़ दिया। जिसके बाद लड़की पक्ष के लोगों ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। दहेज (Dowry) एक ऐसी कुप्रथा है, जिसमें अच्छे-अच्छे लोग पीस जाते हैं। जिसके चलते कई बार कई लड़कियों को अपनी जान भी गंवानी पड़ती है।तो कहीं लड़के वालों की महंगी डिमांड को ना पूरा करने के चलते कई बार शादी वाले दिन तक ही रिश्ते टूट जाते हैं। इंदौर (Indore) से एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहां सिर्फ दहेज में कार (car) नहीं देने के चलते लड़के वालों ने रिश्ता तोड़ दिया। जिसके बाद लड़की पक्ष के लोगों ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है।

यह भी पढ़ें…बागली में वूमेंस क्लब की अनूठी पहल, गणेश प्रतिमा में करेंगे बीजारोपण, विसर्जन के बाद खिलेंगे फूल

Jeevansathi.com पर मिले थे
मिली जानकारी के अनुसार मामला शहर के लसूड़िया थाना क्षेत्र का है। जहां थाना पहुंचे फरियादी रमेश चंद्र गुप्ता ने बताया कि उनकी चार बेटियां हैं। Jeevansathi.com से सबसे छोटी बेटी के लिए शादी के लिए लड़की देख रहे थे। तभी एक लड़के का बायोडाटा पसंद आया, जिसका नाम आकाश गुप्ता था और जो जयपुर का रहने वाला था। लड़का-लड़की की आपस में बात हुई और दोनों ने एक दूसरे को पसंद किया। जिसके बाद लड़के पक्ष के लोगों ने लड़की पक्ष के लोगों को जयपुर सगाई की रस्म के लिए बुलाया। वहीं रमेश चंद्र अपने परिवार को लेकर जयपुर पहुंचे और आकाश गुप्ता से अपनी बेटी की सगाई कर दी। फरियादी ने आगे बताया कि उन्होंने सगाई की रस्म के समय गुप्ता परिवार को पांच लाख भी दिए थे। जिसके बाद शादी केके रॉयल होटल में थी।

कार नहीं दी तो तोड़ा रिश्ता
रमेश गुप्ता का कहना है कि आकाश गुप्ता और उसके परिवार द्वारा डिमांड बढ़ते गई। जिसके बाद उन्होंने शादी के समय सोने चांदी के जेवर और कार की मांग की। वहीं जब हमने कार और जेवर देने से मना कर दिया तो आकाश ने शादी करने से इनकार कर दिया। जिसके बाद रमेश चंद्र गुप्ता ने लड़के पक्ष के ऊपर शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने आकाश गुप्ता, उसके पिता विकास गुप्ता और उसकी मां आशा गुप्ता के ऊपर एफआईआर (FIR) दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें…Morena News : घी व्यापारी के घर जीएसटी विभाग की छापामार कार्रवाई, जांच जारी