मिनिस्टर जयवर्धन सिंह बोले, “मंत्री ने कहा तो BRTS पर रिव्यू होना चाहिए”

Minister-Jayewardhan-Singh-said

इंदौर| आकाश धोलपुरे| नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह की मौजूदगी में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट पर शनिवार को नेहरू पार्क स्थित स्मार्ट सिटी ऑफिस में एक बड़ी बैठक हुई।  बैठक में बीआरटीएस, नर्मदा का पानी, मोनो और मेट्रो रेल पर बात हुई। इस दौरान मंत्री जयवर्धन ने बीआरटीएस पर बड़ा बयान देते हुए कहा – अगर लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा है,  तो बीआरटीएस की समीक्षा होना चाहिए। इस दौरान विधायक महेंद्र हार्डिया ने कहा की बीआरटीएस तोड़ना विकल्प नहीं है। वही बैठक में ये भी चर्चा हुई है कि बीआरटीएस पर फ्लाय ओवर बनाए जाएं और जरूरत पड़ने पर बीआरटीएस की मिक्स लेन को और चौड़ा किया जाये साथ ही बीआरटीएस के समानांतर सड़क बनाई जाना चाहिए। 

बैठक में शामिल हुए विधायक आकाश विजयवर्गीय ने कहा की बीआरटीएस को तोड़ना विकल्प नहीं है, लेकिन इस पर विस्तृत चर्चा की जरूरत है। मेट्रो को लेकर उन्होंने कहा की मेट्रो बड़ा प्रोजेक्ट है। कुछ बदलाव के साथ इसे भी लागू किया जा सकता है। आकाश विजयवर्गीय ने कहा कि मेट्रो की जरूरत फिलहाल नहीं है, लेकिन बाद में आवश्यकता पड़ेगी। प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह ने इस मौके पर कहा की मेट्रो और मोनो रेल पर जल्द कैबिनेट बड़ा फैसला लेगी। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी के लिए मकान तोड़-फोड़ करने से पहले रहवासियों को मजबूत विकल्प देंगे। नदी सफाई पर करोड़ों खर्च होने के बाद भी काम अधूरा रहने पर कहा कि फाइल बुलवाई है जल्द सारी स्थिति पता करेंगे। इसके अलावा उन खर्चो पर लगाम लगाने की बात भी मंत्री सिंह ने कही जो गैरजरूरी है। इसके पेयजल, सड़क, स्मार्ट सिटी के साथ ही स्वच्छता के संबंध में मंत्री जयवर्धन सिंह ने अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों से जानकारियां जुटाई।