वायरल वीडियो पर घिरे पटवारी, भाजपा ने उठाये सवाल, कांग्रेस बचाव में उतरी

minister-jitu-patwari-surrounded-in-viral-video

इंदौर| प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी के वायरल वीडियो जिसमे वे इंदौर के लोकसभा प्रत्याशी को जिताने पर 25 लाख रूपये का जिम का सामान देने की बात कह रहे है इस पुरे मामले में अब बीजेपी और कांग्रेस आमने सामने आ गई है| बीजेपी  बीजेपी अब मामले की शिकायत लेकर चुनाव आयोग के पास पहुंची है, कांग्रेस जीतू पटवारी के बचाव में उतर आई है। 

दरअसल, राउ ग्रामीण क्षेत्र पटवारी का विधानसभा क्षेत्र है और शुक्रवार को वे यहां कांग्रेस प्रत्याशी पंकज संघवी के साथ, ग्रामीणों की बैठक लेने पहुंचे थे जहां उन्होंने मालवी भाषा मे आधुनिक जिम्नेशियम के नाम पर युवाओ को 25 लाख रुपए देने की बात कहकर, कांग्रेस प्रत्याशी को एकतरफा वोट देने की मांग की थी। जिसके बाद एक वीडियो वायरल हो गया और सियासी मैदान में सियासत की लड़ाई भी शुरू हो गई। सबसे पहले बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा ने पटवारी के प्रलोभन वाले वीडियो की शिकायत चुनाव आयोग से करने की बात की और कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी पंकज संघवी की उम्मीदवारी निरस्त करने मांग की। शर्मा की माने तो कांग्रेस प्रत्याशी ने पटवारी के बयान पर मौन स्वीकृति देकर हामी भरी थी। वही बीजेपी के जिलाध्यक्ष अशोक सोमानी ने भी उच्च शिक्षा मंत्री के बयान और प्रलोभन पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई वही उन्होंने कहा कि बीजेपी का पूरा ध्यान सांवेर, देपालपुर और राउ विधानसभा सीट पर है जहाँ से बीजेपी हारी थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की फितरत ही प्रलोभन देने है कि और उसी का परिणाम है कि किसानों की कर्जमाफी आज तक नही हो पाई है। 

जहां बीजेपी ने वायरल वीडियो के आधार पर शिकायत की बात की वही दूसरी और कांग्रेस अपने उच्च शिक्षा मंत्री के बचाव में उतर आई। इंदौर से कांग्रेस के प्रवक्ता अनूप शुक्ला ने कहा कि बीजेपी वायरल वीडियो के बयान पर राजनीति कर रही है और मंत्री पटवारी के बयान को तोड़ मरोड़कर पेश कर रही है। हालांकि, इसके पहले भी प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री अपने विवादित बयानों से सुर्खियों में रह चुके है। जहां किसान आंदोलन में उनके एक वायरल वीडियो में वो अपने साथियों को अपशब्द कहते नजर आए थे वही पार्टी गई तेल लेने और ताई से सत्ता की चाबी सौंपने जैसे बयान भी खूब सुर्खियां बटोर चुके है | लेकिन उनका ताजा वीडियो कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा सकता है क्योंकि ये चुनावी समय है और आचार सहिंता लगी हुई है। भले ही जीतू पटवारी ताजा मामले में वीडियो को एडिट कर पेश किये जाने की बात कह रहे हो लेकिन उनकी मुश्किलें बड़ी हुई है। इधर, इंदौर कलेक्टर लोकेश जाटव ने कहा कि वीडियो मालवी भाषा मे है और उसका हिंदी में अनुवाद करवाया जा रहा है ताकि स्पष्ट हो सके कि मंत्री जीतू पटवारी ने क्या कहा है।