नाबालिगों ने अपने दोस्त का किया अपहरण, नग्न कर मारपीट की, वीडियो वायरल किया

Atul Saxena
Published on -

Indore Crime News : इंदौर के लसूडिया थाना क्षेत्र का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने ये सोचने पर मजबूर कर दिया है कि आज समाज किस दिशा में जा रहा है। घटना का एक वीडियो भी सामने आया जिसमें जो कुछ दिखाई दे रहा है वो अविश्वसनीय है। खैर शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपियों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर हिरासत में लिया जिन्हें बाद में जमानत पर रिहा कर दिया गया, आइये जानते हैं पूरा मामला ….

नाबालिग को बेल्ट से मार रहे थे, बचने के लिए वो चिल्ला रहा था 

इंदौर के लसूडिया थाना क्षेत्र के निपानिया इलाके के एक वायरल वीडियो ने शहर में हड़कंप मचा दिया है। वीडियो में तीन चार  नाबालिग बच्चे एक नाबालिग बच्चे को नग्न कर उसे बेल्ट से मारते दिखाई दे रहे हैं, तालाब के किनारे बनाये जा रहे वीडियो में दिखाई दे रहा बच्चा चिल्ला चिल्ला कर नहीं मारने की गुहार लगा रहा है लेकिन पीटने वाले नाबालिग उसपर रहम नहीं कर रहे।

पीटने वाले धार्मिक नारे, पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगवा रहे थे  

पिटाई के दौरान पीड़ित बच्चे से धार्मिक नारे भी लगवाये गए, हिंदुस्तान जिंदाबाद और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी लगवाये गए।  बच्चों ने पूरे घटनाक्रम का वीडियो भी बनाया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।  सबसे खास बात ये है कि पीड़ित बच्चा और उसका अपहरण कर पीटने वाले बच्चे 12 से 14 साल के बीच उम्र के हैं और आपस में दोस्त हैं। पहले वे एक साथ आईडीए की मल्टी में एक साथ रहते थे, पीड़ित अपने परिवार के साथ कुछ समय पहले ही अशर्फी नगर रहने चला गया था, बुधवार को निपानिया में अपने दोस्तों से मिलने आया था जिसे वही दोस्त पकड़कर अपहरण कर ले गए।

पुलिस ने अपहरण सहित आईटी एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज किया 

घटना के बाद जैसे तैसे बच्चा घर पहुंचा और अपने पिता को पूरा घटनाक्रम बताया। बच्चे की बात सुनकर पिता लसूडिया थाने पहुंचे और शिकायत दर्ज कराई, मामले की गंभीरता को समझते हुए पुलिस ने धारा 365, 363,294, 506 और आईटी एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया।

बच्चों को मिली जमानत, पुलिस को अब बयानों का इंतजार 

मामला दर्ज करने के बाद पुलिस ने आरोपी बच्चों को पुलिस थाने बुलवाया डीसीपी सूरज वर्मा ने बताया कि बच्चों से घटनाक्रम के बारे में पूछताछ की उनके परिजनों को भी बुलवाया, बच्चों को बताया कि उन्होंने जो कुछ किया वो कितना गंभीर अपराध हैं, बच्चों को गलती का अहसास हुआ, बाद में उन्हें जमानत दे दी गई। पुलिस का कहना है कि जल्दी ही बयान दर्ज कर केस डायरी बाल एवं किशोर न्यायालय भेज दी जाएगी।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News