इंदौर।
एमपी (MP) में भले ही उपचुनाव (election) की तारीखों का ऐलान नही हुआ हो, लेकिन कोरोना संकट(corona crisis) बीच राजनैतिक पार्टियों की तैयारियां जोरों पर चल रही है।अब कांग्रेस (congrss) ने उपचुनाव वाले इलाकों में अपने संगठन को मजबूत करने की कवायद शुरू कर दी है। इसी कड़ी में इंदौर जिला कांग्रेस कार्यकारिणी (Indore District Congress Executive) को भंग कर दिया गया है।माना जा रहा है सांवेर उपचुनाव (Sanwer by-election) को देखते हुए कांग्रेस ने यह फैसला लिया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (State Congress President and former Chief Minister Kamal Nath) के निर्देश पर इंदौर की जिला कांग्रेस कमेटी की कार्यकारिणी तत्काल प्रभाव से भंग कर दी गई हैं। हालांकि विनय बाकलीवाल इंदौर शहर के कांग्रेस अध्यक्ष बने रहेंगे।यह पहला मौका नही है। इससे पहले पूर्व केन्द्रीय मंत्री और बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Former Union Minister and BJP leader Jyotiraditya Scindia) के कांग्रेस में जाने पर कई जिलों की कार्यकारिणी भंग की गई थी।

खास बात ये है कि यह सिंधिया समर्थक और शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट का विधानसभा क्षेत्र रहा है।आने वाले दिनों में यह उपचुनाव होना है। सिलावट का यहां से एक बार फिर उम्मीदवार बनना तय माना जा रहा है।

इन जिलों की पहले ही हो चुकी है कार्यकारणी भंग
इससे पहले सिंधिया के प्रभाव वाले जिले में गुना ग्रामीण, गुना शहर, श्योपुर, शिवपुरी, विदिशा और अशोकनगर जिलों की कांग्रेस कमेटियों की कार्यकारिणी तत्काल प्रभाव से भंग कर दी गई थी।

 

मप्र उपचुनाव से पहले इंदौर की जिला कांग्रेस कार्यकारिणी भंग