इंदौर से कमलनाथ की हुंकार, संगठन स्तर पर मजबूती की आवश्यकता है

हमारा मुकाबला बीजेपी से नही बल्कि उसके संगठन से है

इंदौर, आकाश धौलपुरे। मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ (fomer cm kamalnath) ने शुक्रवार को इंदौर (indore) में बीजेपी (BJP) और ईवीएम (EVM) पर सवाल उठाए। वही बुलडोजर राजनीति के मामले पर उन्होंने साफ किया कि हमारी सरकार आई तो जांच होगी और हम सबको मुआवजा देंगे। वही कांग्रेस में बिखराव को लेकर उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य चुनाव नही है हम सब मिलकर जीतेंगे। वही उन्होंने कहा कि हमारा कमिटेड वोट बैंक आम जनता है। विभिन्नता वाले मध्यप्रदेश को लेकर कमलनाथ ने कहा कि हम जाति और धर्म को लेकर कमिटमेंट करे तो ये राजनीति में ठीक नही है।

यह भी पढ़े…शिवराज सरकार की बड़ी घोषणा, 26 जिलों को मिलेगा लाभ, हितग्राहियों के लिए बढ़ाई गई राशि

वही प्रशांत किशोर को लेकर उन्होंने कहा कि उनमें अच्छी राजनीतिक समझ है और वो कांग्रेस (Congress) से जुड़ रहे है तो उसमें गलत क्या है । वही पेट्रोल डीजल सहित महंगाई को लेकर उन्होंने बीजेपी सरकार पर सवाल उठाए। वही उन्होंने कई क्षेत्रों में विफलता को लेकर बीजेपी सरकार पर सवाल उठाएं। उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि पब्लिसिटी के लिए धार्मिक बन जाना इस पर मैं विश्वास नही करता। वर्तमान मे बेरोजगारी एक बड़ी चुनौती है क्योंकि सवाल ये है कि सस्ती शराब है लेकिन सस्ता पेट्रोल और डीजल क्यों नही। वही उन्होंने कहा कि मैं चुनाव लडूंगा या नही ये पार्टी तय करेगी मैं नही और अपने आपको घोषित नही कर सकता।

यह भी पढ़े…Samsung Galaxy M53 5G स्मार्टफोन भारत में लॉन्च, जानें फीचर्स

आगामी विधानसभा चुनाव के लेकर कमलनाथ ने लोगो से सीधी बात कही कि मध्यप्रदेश की तस्वीर देख लीजिए और सच्चाई का साथ दीजिये। कांग्रेस के जमीन पर न होने के सवाल पर कमलनाथ ने कहा कि सब साथ है और मैं खुद जिलों के लोगो से बात कर दौरा करता हूँ। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में साढ़े ग्यारह महीनों की कांग्रेस सरकार ने नीति और नियत का परिचय दिया है जिसका गवाह मध्यप्रदेश है और कोई नही कहता कि मैंने कोई गुनाह किया।

यह भी पढ़े…MPPSC ने जारी की सूचना, उम्मीदवारी हुई निरस्त, दिशा -निर्देश जारी

वही बीजेपी पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लिए बीजेपी का हर नेता चुनौती है कोई व्यक्ति विशेष नही। वही कांग्रेसियों को सीख देते हुए उन्होंने कहा कि सब एक होकर रणनीति बनाये मैं अकेला कोई रणनीति नही बना सकता। मैं 100 लोगोसे व्यक्तिगत तौर पर रोज मिलता हूँ। वही उन्होंने कहा कि राजनीति स्थानीय हो गई है भोपाल के संगठन से कोई चुनाव नही जीतेगा। सबके अलग विचार है और मैं सबके साथ बैठता हूं। छिंदवाड़ा में हम लोकल लेवल के संगठन के चलते लोकसभा और विधानसभा चुनाव जीतते है केवल भोपाल के संगठन से नही। ये ही वजह है कि हमने दो उपचुनाव प्रदेश में जीते है बाकि स्थानों पर क्या हुआ वो सब जानते है। हम सबको मनाने की कोशिश कर रहे फिर वो लोकल लेवल की ही बात क्यों न हो।

यह भी पढ़े…MP News : “पहले तोड़ो फिर बनाओ” पर काम कर रहा है मध्यप्रदेश का खेल विभाग

इधर ईवीएम पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि ईवीएम में सुधार की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि ईवीएम लाने वाले हम थे लेकिन जिन देशों ने ईवीएम बनाया है उन देशों के लोग ही अब उसे नकार रहे है ऐसे में ईवीएम पर सवाल उठाना जरूरी है। यूपी चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशियों की जमानत जब्त होने के सवाल पर कमलनाथ ने कहा कि यूपी में हमारा संगठन कमजोर है हालांकि उन्होंने यूपी सहित अन्य राज्यो में हार को लेकर ईवीएम पर ही सवाल उठाए। हमारे कार्यकाल में कोई गलत बुलडोजर नही चला है जहां कानून और नियमो का पालन नही हुआ वहाँ कार्रवाई की गई।

यह भी पढ़े…Gwalior News : एंटी माफिया अभियान में मुक्त कराई 12 करोड़ की शासकीय भूमि

उन्होंने कहा कि हमारा मुकाबला बीजेपी से नही बल्कि उसके संगठन से है क्योंकि राजनीति बहुत स्थानीय हो गई है। अपने 42 वर्ष के राजनीतिक अनुभव का जिक्र करते कमलनाथ ने कहा कि लोगो को भी एक थकावट हो जाती है और उस थकावट का भी मुकाबला करना पड़ता है और स्थानीय स्तर पर संगठन मजबूत करने की आवश्यकता है। वही कांग्रेस को सभी साथियों की आवश्यकता है और हम पूरी ताकत के साथ चुनावी मैदान में जाएंगे। वही विधायकों की खरीद फरोख्त को लेकर भी उन्होंने सवाल उठाए।