इंदौर में 26 सितंबर से सितोलिया की राष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन, बीजेपी महासचिव ने किया ये ऐलान

प्रदेश की राजनीतिक हलचलों पर हमेशा की तरह विजयवर्गीय ने व्यापक टिप्पणी तो नही की लेकिन विपक्ष में बैठी कांग्रेस पर उन्होंने जमकर सवाल उठाये।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। परंपरागत खेलो सितोलिया, गधा मार, गिल्ली डंडा और कंचे मोबाइल और आधुनिकता की भेंट चढ़ गए है। हालात ये है कि डिजिटल युग में बच्चे का इन खेलों से परिचय तक नही हो पाया है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए फेडरेशन ऑफ इंडिया द्वारा इंदौर (Indore ) में परंपरागत खेल सितोलिया (पिट्ट) को बढ़ावा देने के लिए तीन दिवसीय आयोजन किया जा रहा है। इस आयोजन की जानकारी बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (BJP National General Secretary Kailash Vijayvargiya) ने प्रेसवार्ता के जरिये शुक्रवार को इंदौर में दी। दरअसल,आधुनिक युग मे भारत में परंपरागत खेलों के लुप्त होने से बचाने के लिए मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में फेडरेशन ऑफ इंडिया द्वारा सराहनीय पहल करते हुए सितोलिया( पिट्ट) की राष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है।

Read More…Indore News: पुलिस ने एक इनामी बदमाश और दो वाहन चोरो को किया गिरफ्तार

आयोजन को लेकर बीजेपी (BJP) के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने बताया कि हमारे देश में कई तरह के खेल परंपरागत रूप से खेले जाते हैं जिसमें गिल्ली डंडा, कंचे, गधा मार सहित अन्य कई तरह के खेल शामिल है लेकिन वर्तमान दौर में परंपरागत खेल लुप्त होते जा रहे हैं। जिसके कारण बच्चे तक डिप्रेशन का शिकार भी हो रहे है। विजयवर्गीय ने बताया कि बच्चे परंपरागत खेलों को छोड़कर घर में मोबाइल में गेम और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के माध्यम से अपने शौक पूरे कर रहे हैं और इसी कारण से उनकी हार-जीत सहित शारीरिक दक्षता भी कम हो रही है। ऐसे में परंपरागत खेलों को नई तरह से इंदौर में शुरू किया जा रहा है और इंदौर में राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता का आयोजन 26 सितंबर को होना है और इस आयोजन का शुभारंभ मध्य प्रदेश शासन के मंत्री मोहन यादव द्वारा किया जाएगा। वहीं 28 सितंबर को समापन होगा। उन्होंने बताया कि तीन दिवसीय आयोजन में राज्यमंत्री सहित अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद रहेंगे।

इधर, कांग्रेस (Congress) द्वारा प्रशासन पर लगाये जा रहे भेदभाव के आरोपों के सवाल पर विजयवर्गीय ने कहा कि विपक्ष की राजनीति करने से पहले पूरी तरह से तैयार रहने की आवश्यकता होती है।क्योंकि मुझ पर स्वयं बंगाल की राजनीति करते समय 35 से अधिक केस हो चुके हैं। ऐसे में विपक्ष की राजनीति में सभी प्रकार के आरोप-प्रत्यारोप झेलने की क्षमता होना जरूरी है।

वहीं विजयवर्गीय ने इंदौर में कहा कि प्रदेश में आदिवासी समाज का केवल कांग्रेस ने वोट बैंक के लिए ही उपयोग किया है। जबकि, बीजेपी आदिवासी समाज और जनजाति समाज को समाज का हिस्सा मानती है और उनके लिए प्रधानमंत्री द्वारा कई लाभकारी योजनाएं भी चलाई जा रही हैं। इसके अलावा शासन – प्रशासन द्वारा दर्ज किए जा रहे मुकदमो को लेकर कांग्रेस द्वारा आने वाले दिनों में किये जाने प्रदर्शन के दौरान राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के इंदौर आगमन को लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि दिग्विजयसिंह के पास कोई काम नहीं है वह कहीं पर भी घूम फिर सकते है। उन्होंने सवाल उठाया और कहा कि कांग्रेसी कहा है क्योंकि कांग्रेस में ही तीन से चार दल बन चुके हैं। हालांकि प्रदेश की राजनीतिक हलचलों पर हमेशा की तरह उन्होंने व्यापक टिप्पणी तो नही की लेकिन विपक्ष में बैठी कांग्रेस पर उन्होंने जमकर सवाल उठाये।

Read More…सतना में नगर निगम के सब इंजिनियर और उसकी पत्नी के साथ मारपीट, FIR दर्ज