इंदौर पुलिस की भोजनशाला, शहर से बाहर अब कोई नहीं जाएगा भूखा

इंदौर/आकाश धोलपुरे

इंदौर में कोरोना संक्रमण के दौरान पुलिस का नया रूप हर रोज देखने को मिल रहा है। जहां पुलिस को शहरवासियों के स्वास्थ्य की फिक्र है वही दूसरी ओर पुलिस अब उन राहगीरों की मदद के लिए भी आगे आई है जो शहर से बाहर जा रहे हैं और शहर के अंदर आ रहे हैं। पुलिस ने शहर से सटे सिमरोल थाना क्षेत्र के चेक पोस्ट पर एक भोजनशाला खोली है, हालांकि अब तक इस स्थान पर पुलिस आने जाने वालों की जांच करती थी लेकिन अब पुलिस हर आने जाने वाले के लिये भोजन भी उपलब्ध करवा रही है।

दरअसल, लॉक डाउन के तीसरे चरण में बड़ी संख्या में दूसरे राज्यों व शहरों से लोग आ रहे हैं, और दूसरी तरफ इंदौर के लोग भी बाहर जा रहे है। ऐसे में पैदल और सायकिल से मंजिल तक सफर करने वालो को भूख की असहनीय पीड़ा सहन करना पड़ रही है जिसके चलते सिमरोल के ग्रामीणों के साथ मिलकर पुलिस ने एक अनूठी शुरुआत की है। इस पहल की हर व्यक्ति सराहना कर रहा है और पुलिस को दुआएं दे रहा है। डीएसपी मुख्यालय अजय वाजपेयी के मुताबिक ग्रामीणों की मदद से भोजनशाला तैयार की गई है जिसका उद्देश्य ये है कि कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे। भोजनशाला में ग्रामीणों के साथ ही पुलिस के आला अधिकारी भी लोगो को भोजन परोसते नजर आ रहे है। एसपी पश्चिम महेशचंद्र जैन ने भी मौके पर पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया साथ ही उन्होंने अपने मातहतों और ग्रामीणों की तारीफ भी की।

इस भोजनशाला की खास बात ये है कि यहां भोजन के दौरान सोशल डिस्टेसिंग का ध्यान भी बखूबी रखा जा रहा है। बता दे कि इंदौर पुलिस कोरोना संकट के दौरान शहर में लॉक डाउन का पालन सख्ती से करा रही है वही दूसरी ओर पुलिस मजबूर लोगो की मदद के लिये भोजन जैसी अहम व्यवस्था भी ग्रामीणों के साथ मिलकर कर रही है जिसे एक प्रेरक पहल के रूप में देखा जा रहा है।