प्रशासन के साथ कोरोना के खिलाफ लड़ाई में आगे आए इंदौर के धर्मगुरु

इंदौर।आकाश धोलपुरे।

मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना को लेकर प्रशासन अलर्ट पर है और जब कलेक्टर मनीष सिंह ने इंदौर में मोर्चा संभाला है तब से ही कोरोना के खिलाफ जंग में नए नए बदलाव नजर आ रहे है। दरअसल, कलेक्टर ना सिर्फ मैदानी स्तर पर व्यवस्थाओं को जायजा ले रहे है वही दूसरी ओर आज उन्होंने अलग – अलग धर्मगुरुओ के साथ बैठक कर कोरोना से बचाव की रणनीति तैयार की है।

दरअसल, इंदौर में अब कोरोना कम्युनिटी वार के लिए अपनी जड़ें मजबूत कर रहा है और इस जड़ को उखाड़ फेंकने के लिए प्रशासन की धर्मगुरुओ के साथ बैठक अहम मानी जा रही है। लिहाजा, ज़िला प्रशासन द्वारा आयोजित बैठक में कलेक्टर मनीष सिंह और डीआईजी हरिनारायणचारि मिश्र ने धर्मगुरुओ से उनके सुझाव मांगे और साथ ही अपील कर कहा कि कोरोना की कम्युनिटी स्प्रिट की चैन को तोड़ना जरूरी है।

ऐसे में धर्मगुरुओ ने ही प्रशासन को आश्वस्त किया कि वे संकट की घड़ी में प्रशासन के साथ है और सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों के जरिये लोगो से अपील करेंगे कि लोग अपने घरों में रहकर सुरक्षित रहे क्योंकि कोरोना से बचाव के लिए ये जरूरी है इसके साथ ही बार – बार हाथ धोने के साथ ही मास्क की उपयोगिता भी समझाई जाएगी वही कोरोना जांच के लिए लोगो का सहयोग प्रशासन को मिले इसकी अपील भी धर्मगुरु करेंगे।

इधर, कलेक्टर मनीष सिंह ने बैठक के बाद बताया कि आज धर्मगुरुओ की बैठक में सभी ने आश्वस्त किया है कि स्वास्थ्य विभाग की टीम को सर्वे व स्केनिंग के लिए वो सोशल मीडिया व वन टू वन फोन पर जांच के लिए अपील करेंगे। वही उन्होंने अलग – अलग धर्मगुरुओ को प्रशासन किस तरह से किन क्षेत्रो में काम कर रहा है उसकी भी जानकारी दी गई है।

कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि कन्टेनमेंट क्षेत्रो को लेकर भी धर्मगुरुओ से चर्चा कर सहयोग की अपेक्षा प्रशासन ने की है। ऐसे में प्रशासन और सभी धर्मगुरु मिलकर अब इंदौर में कोरोना को हराने के तैयार है और आपको बस प्रशासन कि बात मानकर अपने घरों में ही रहना ताकि कोरोना से बचाव किया जा सके और जहां जरूरी है उन क्षेत्रों के लोग प्रशासन को जांच में सहयोग करे।