निकिता हत्या मामला : परिजनों ने शव ले जाने से किया इंकार, अब पुलिस करेगी अंतिम संस्कार

indore police

Nikita Murder Case : इंदौर के रावजी बाजार थाना क्षेत्र में हुई निकिता हत्या मामले में पुलिस के हाथ अब भी खाली है। वहीं मृतका के परिजनों ने शव को ले जाने से इंकार कर दिया पुलिस अब शव का अंतिम संस्कार करेगी। इधर रावजी बाजार पुलिस संदिग्ध युवक की तलाश में जुटी हुई है।

क्या है पूरा मामला

बता दें कि बीते दिनों रावजी बाजार थाना क्षेत्र के जबरन कॉलोनी में निकिता नामक युवती की कैंची मारकर हत्या कर दी गई थी मृतका कुछ समय पहले ही एक युवक के साथ यहां किराए से रहने आई थी। वह मूलत: सागर की रहने वाली थी। शनिवार को कमरे के अंदर से बदबू आने के बाद आसपास के लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी, मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़कर देखा तो एक युवती की लाश जमीन पर पड़ी थी और उसके चेहरे और गले पर जख्म के निशान थे।

रावजी बाजार थाना प्रभारी अमोद राठौर के मुताबिक निकिता के साथ रहने वाला युवक घटना के बाद से फरार है पुलिस हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए करीब 150 से अधिक सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाल चुकी है लेकिन अब तक आरोपियों का कोई सुराग नहीं मिला है। वहीं मृतका के परिजनों ने शव को ले जाने से इंकार कर दिया, अब पुलिस अंतिम संस्कार करेगी। जानकारी के मुताबिक युवती पिछले कुछ साल से घर से बाहर रह रही थी फिलहाल पुलिस मृतका के भाई और बहन से जानकारी जुटाने में लगी है।
इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News