बिजली

इंदौर। संयुक्त शासकीय अधिकारी कर्मचारी संघ जिला शाखा इंदौर के बैनर तले श्री गोविन्दराम सेकसरिया प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान संस्थान के कर्मचारी 85 दिनों से आंदोलन पर हैं| अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे कर्मचारियों पर संसथान के निदेशक द्वारा ध्यान नहीं दिए जाने पर इस संबंध में इंदौर कलेक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री को भी ज्ञापन भेजा गया है। 

शासन से अनुदान प्राप्त संस्थान होने के साथ ही इसके शासी निकाय के अध्यक्ष तकनीकी शिक्षा मंत्री है। साथ में प्रमुख सचिव तकनीकि शिक्षा विभाग, आरजीपीवी के कुलपति , सचिव वित्त विभाग भी इसमें शामिल है। संस्थान का शिक्षाकेत्तर कर्मचारी संघ के अध्यक्ष पुरन कैथवास ने बताया कि कर्मचारी 27 अगस्त 2019 से अपनी आठ सुत्रीय मांग के निराकरण के लिए संस्थान प्रशासक से सामने विभिन्न धरना प्रदर्शन रैली और पत्र के माध्यम से भोजन अवकाश में आंदोलन कर रहा है। हमारी सभी मांग शासकीय नियानुसार और योग्य है। लेकिन संस्थान प्रशासन द्वारा कई बार लिखित एवं मौखिक आश्वासन के बाद भी समस्याओं का निराकरण आदेश जारी नही कर वादा खिलाफी की है। 

उन्होनें बताया कि कर्मचारियों की मांग है कि उन्हें  पदोन्नति और विभागीय वरिष्टता का लाभ मिले, वेतन वृद्धि की जाए और वेतन विसंगतियों को दूर किया जाए। कर्मचारियों को आकस्मिकता निधी और अनुकंपा नियुक्ति का लाभ दिया जाए।  संविदा कर्मचारियों को नियमित वेतन के न्यूनतम का 90 प्रतिशत राशि का भुगतान हो और  दिवंगत और सेवा निवृतों को राशियों का भुगतान भी किया जाए।  पदस्थपना और उसके अनुसार कार्य संपादित करवाने और  उच्च शैक्षणिक योग्यता प्राप्त सहायक कर्मचारियों को अतिरिक्त वेतनवृद्धि का लाभ मिले साथ ही  संघ का पत्राचार पर सकारात्मकता उत्तर दिया जाए। उन्होनें बताया कि इस संबंध में लम्बे समय से पत्राचार किया जा रहा है लेकिन कोई कार्रवाही नही हुई है। अब मुख्यमंत्री जी से उम्मीद है।