कोरोना से नहीं, हार्ट अटैक से हुई थाना प्रभारी की मौत, होने वाले थे डिस्चार्ज

इंदौर|आकाश धोलपुरे| शहर के जूनी थाने के प्रभारी देवेंद्र चंद्रवंशी की मौत के मामले में नया खुलासा हुआ है| उनकी मौत कोरोना से नहीं बल्कि हार्ट अटैक से हुई है| ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण (CORONA) होने पर उन्हें अरविंदो अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान शनिवार रात चंद्रवंशी ने दम तोड़ दिया।

डॉ. विनोद भंडारी, एमडी (अरविंदो हॉस्पिटल) के मुताबिक जूनि इंदौर थाना प्रभारी देवेंद्र चंद्रवंशी 19 दिन से अरविंदो हॉस्पिटल में भर्ती थे| उन्हें 31 मार्च को एडमिट किया था, उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव थी| डॉ भंडारी ने बताया 10 तारीख तक उनकी हालत में सुधार नहीं आ रहा था| जिसके बाद कई विशेषज्ञों की सलाह के बाद उन्हें एक इंजेक्शन दिया गया और उनकी रिपोर्ट फिर से भेजी गई जो 13 अप्रैल को फिर से पॉजिटिव आई थी| उनका इलाज जारी रहा, जिसके बाद 16 और 17 अप्रैल को उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी| मरीज के राइट साइड के लंग्स में 85 परसेंट इम्प्रूवमेंट था| उन्हें डिस्चार्ज करने का विचार शुरू हो गया था| इस बीच कल रात 11.30 बजे उन्हें अचानक सांस चली और हार्ट रेट तेज हो गई और उनको कार्डियक अरेस्ट हो गया। डॉ के मुताबिक उन्हें आशंका है कि पल्मोनरी एम्बोलिस्म(pulmonary Embolism) से उनकी डेथ हो गई|

2007 में एसआई बने चंद्रवंशी शाजापुर जिले के रहने वाले थे। उनकी मौत से पुलिस महकमे में शोक की लहार है| चंद्रवंशी के साथ तैनात रहे जूनी थाने के एएसआई भी कोरोना की चपेट में आ गए थे, वहीं खजराना टीआई संतोष सिंह का भी इलाज चल रहा है|