notice-will-be-issued-to-former-chief-minister-shivraj-singh-chauhan-and-bjp-candidate-lal

इंदौर। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और इंदौर से भाजपा के लोकसभा प्रत्याशी शंकर लालवानी के खिलाफ आयोग ने आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के दो मामलों में संज्ञान लिया है। आयोग ने दोनों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। इससे पहले भी शिवराज के खिलाफ कई शिकायतें चुनाव आयोग तक पहुँच चुकी हैं| भोपाल से साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ चुनाव आयोग ने 72 घंटे का प्रतिबन्ध लगाया है| शिवराज की भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं| 

दरअसल, लोकसभा चुनाव में इस बार सभी पार्टियों एक के बाद एक आचार संहिता का खुलकर उल्लंघन कर रही है और शिकायतें आयोग पर पहुंच रही है।  अब दो मामलों में भाजपा को नोटिस जारी किया गया है। बीते 29 अप्रैल को पूर्व मुख्यमंत्री श्री चौहान और भाजपा प्रत्याशी लालवानी के द्वारा आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के विषय में शिकायतें प्राप्त हुयी थी। चौहान पर आरोप है कि उन्होंने यहां एक रैली को संबोधित करते हुये एयर स्ट्राइक और सेना का नाम लेते हुये भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में मतदान की अपील की थी।जबकि आदर्श आचार संहिता के चलते चुनाव आयोग ने चुनावी रैलीयों और सभाओं में सेना और सेना से जुड़े लोगों के नाम का उपयोग करने पर प्रतिबंध लगा रखा है। मामले की शिकायत निर्वाचन कार्यालय से की गई थी।जिसके बाद शिवराज सिंह चौहान को नोटिस जारी कर जावाब मांगा गया है।

वहीं भाजपा उम्मीदवार शंकर लालवानी के भगवान गणेश को कमल चिन्ह का चोला चढ़ाया था।जबकि चुनाव आयोग ने धर्म के नाम पर चुनावी कार्य करने पर भी प्रतिबं�� लगा रखा है मामला कांग्रेस के संज्ञान में आने के बाद कांग्रेस ने बकायादा फोटो और वीडियो भी निर्वाचन आयोग के समक्ष पेश किए गए है।  इन दोनों मामलो को संज्ञान में लेते हुए आयोग ने नोटिस जारी किया है और जवाब मांगा है।