इंदौर/आकाश धोलपुरे

इंदौर में एक डॉक्टर की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो गई है। शहर में कोरोना वायरस की भयावहता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अब एक डॉक्टर भी इसकी चपेट में आ गए हैं।

213 तक पहुंचा कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा

इंदौर के प्रायवेट प्रैक्टिस करने वाले एक डॉक्टर की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी और इलाज के दौरान आज अरविंदो अस्पताल में उनकी मौत हो गई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जाडिया के अनुसार 5 दिन पहले डॉक्टर को गोकुलदास अस्पताल में एडमिट किया गया था, इसके बाद उनका इलाज सीएचएल अस्पताल में चला और अंत में उन्हें अरविंदो अस्पताल ले जाया गया जहाँ आज सुबह तकरीबन 4 बजे डॉक्टर की मौत हो गई। इसके बाद अब इंदौर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 22 तक जा पहुंची है वहीं अब तक 213 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

डॉक्टर द्वारा 2 क्लिनिक संचालित किए जाते थे

इंदौर में निजी क्लीनिक संचालित करने वाले डॉक्टर की मौत के बाद अब सवाल ये उठ रहा है कि क्या लॉक डाउन के बाद भी डॉक्टर मरीजों का इलाज कर रहे थे। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ये डॉक्टर शहर के आर टी ओ रोड़ के विनय नगर में क्लिनिक संचालित करते थे वही उनका दूसरा क्लिनिक त्रिवेणी कॉलोनी में है। जहाँ विनय नगर क्लिनिक पर डॉक्टर पिछले 1 माह से नही आये थे, वहीं जानकारी के मुताबिक त्रिवेणी कालोनी क्षेत्र में संचालित क्लिनिक पर उन्होंने लॉक डाउन के बाद भी मरीजों का इलाज जारी रखा था। शहर के रूपराम नगर में रहने वाले डॉक्टर की मौत के बाद अब कई सवाल उठ रहे जिनके जवाब ढूंढने के लिए प्रशासन की कोशिशें जारी है।