सीएम शिवराज ने ऐसा क्या कह दिया कि विपक्ष ने छेड़ा ट्विटर वार

बैठक के बाद आये मुख्यमंत्री के बयान और एक तस्वीर के बाद कांग्रेस सवाल खड़े कर रही है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे।  यूं तो पीएम मोदी अचानक फैसले लेने के लिए जाने जाते हैं जिसकी भनक कई दफा नेशनल मीडिया को भी नहीं लगती है वहीं पीएम की ही तर्ज पर सोमवार रात को इंदौर में अचानक ऐसा कुछ हुआ कि सालों बाद बीजेपी संगठन के बड़े दिग्गज एक साथ भाजपा कार्यालय इंदौर(BJP Office Indore) पहुंचे। बैठक में बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष, मध्यप्रदेश के प्रभारी मुरलीधर राव, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, सीएम शिवराज सिंह चौहान, गृहमंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुभाष भगत, बीजेपी प्रदेश सह संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा सहित बीजेपी संगठन से जुड़े सदस्य मौजूद थे। लेकिन बैठक में इंदौर के किसी भी बीजेपी विधायक को इंट्री नहीं दी गई।

करीब 3 घण्टे तक चली बैठक में गोपनीय मंथन किया गया जिसे लेकर अब प्रदेशभर में चर्चा हो रही है। वहीं राजधानी से लेकर आर्थिक राजधानी तक बीजेपी संगठन की बैठक को लेकर कई तरह के सवाल उठा रही है। बैठक के बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने इतना भर बताया कि बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष मध्य प्रदेश के तीन दिवसीय प्रवास पर है और बीजेपी के पितृ पुरुष स्व. कुशाभाऊ ठाकरे जन्म शताब्दी वर्ष में संगठन को किस तरह से ज्यादा मजबूत किया जाए इस विषय पर बैठक हुई।

ये भी पढ़ें – शशि थरूर ने अब शेयर की पुरुष सांसदों के साथ फोटो, लिखा- इसके वायरल होने की किसी को उम्मीद नहीं 

हालांकि, अचानक इंदौर (Indore News) में हुई बीजेपी संगठन की बैठक (BJP Secret Meeting In Indore) के बाद प्रदेश की सियासत में गरमाहट ला दी है। राजनीतिक विश्लेषकों की माने तो बैठक में 2023 के सियासी रण को लेकर रणनीति बनाई गई होगी इसके अलावा आदिवासी वोट बैंक, प्रदेश में किस चेहरे के दम पर चुनाव लड़ा जाये, इन सब बातों पर चर्चा हुई होगी।

ये भी पढ़ें – MP Corona: कोरोना के आंकड़ों ने बढ़ाई टेंशन, भोपाल में 14 नए केस, सीएम ने दिए कड़े निर्देश

पार्टी संगठन की गोपनीय बैठक स्वयं बीजेपी कार्यकर्ताओ के लिये एक अबूझ पहेली है वहीं कांग्रेस इस बैठक के बाद कुछ मामलों में तंज कस रही है तो कुछ बातों को लेकर सवाल उठा रही है।

ये भी पढ़ें – ओमिक्रॉन की पहली तस्वीर, ये हैं कोरोना के नए म्यूटेंट के लक्षण

दरअसल, सीएम शिवराज सिंह चौहान से बैठक के बाद जब मीडिया ने सवाल किया तो उनका जबाव चुटीले अंदाज आया और उन्होंने कहा जहां नरोत्तम मिश्रा जी होते है मैं वहां नहीं बोलता। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने इस बात को लेकर ट्वीट किया और वीडियो बाईट के साथ लिखा कि शिवराज जी कह रहे हैं कि जब नरोत्तम मिश्रा होते हैं तो मैं कुछ नहीं  बोलता , प्रवक्ता हैं हमारे…बस मैं उन्हें रोकने के लिये भूपेन्द्र सिंह , विश्वास सारंग , रामेश्वर शर्मा को आगे कर देता हूँ…।

ये भी पढ़ें – Gold Silver Rate : चांदी में बड़ी गिरावट, सोना भी लुढ़का, खरीदने का सुनहरा मौका

इतना ही नहीं कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने तो मनीषी श्रीवास्तव के बैठक में शामिल होने के लेकर सवाल उठाए। एक ट्वीट कर नरेंद्र सलूजा ने लिखा कि जवाब तो देना होगा… प्रदेश के इंदौर में चली तीन घंटे की गोपनीय बैठक में सिर्फ़ 8 भाजपा के बड़े राष्ट्रीय पदाधिकारी ही शामिल हुए , उस बैठक में मनीषी श्रीवास्तव की उपस्थिति , जिनके ऊपर हाल ही में खनन को लेकर छापे पड़े है , जिसकी जाँच चल रही है..?