चंद घण्टो में लूट का आतंक मचाने वाले गिरफ्तार, हाथ जोड़कर शिक्षिका से मांगी ऑनलाइन माफी

दोनों ही बदमाशो ने गुरुवार को 4 घण्टे के बीच मोपेड वाहन पर सवार होकर लसूड़िया थाना क्षेत्र में रिटायर्ड जज जे.एस. सेंगर की बहू एडवोकेट आराधना सिंह का पर्स लूटने का प्रयास किया था

इंदौर, आकाश धोलपुरे। हर्षराज ये दो जुड़े नाम है जिन्होंने न सिर्फ आम जनता की बल्कि इंदौर पुलिस की भी बैचेनी बढ़ा दी थी लेकिन अब हर्ष भी पुलिस गिरफ्त में और राज भी। चंद घण्टो में महिलाओं को टारगेट कर उनसे लूट व लूट का प्रयास करने वाले दोनों लुटेरे आदतन अपराधी है और वो पहले जेल भी जा चुके है। वही बाहर आकर नशे की बुरी लत को पूरा करने के लिए कुछ समय शांत बैठने के बाद गुरुवार को लूट का कोहराम मचाने निकले थे। इस बीच दोनों लुटेरो की करतूतों पर बहस छिड़ गई कि कमिश्नरी सिस्टम का क्या अपराधियों पर कोई दबाव नही है लेकिन इंदौर पुलिस ने बता दिया कि नए सिस्टम और नए तरीकों से वो अपराधियों को वारदात के कुछ घण्टो बाद गिरफ्तार कर सकती है।
दरअसल, गुरुवार को अलग-अलग समय पर लसूड़िया, एमआईजी और तुकोगंज थाना क्षेत्र में महिलाओं के साथ लूट की वारदात को अंजाम देने वाले दोनों आरोपी पुलिस गिरफ्त में आ गए है। पकड़े गए आरोपियों के नाम राज और हर्ष उर्फ गम्मू बताये जा रहे है।

यह भी पढ़े.. BJP के नवनियुक्त जिलाअध्यक्ष के बिगड़े बोल, “पदाधिकारी आदेश दे तो थाना फोड़ दो”

दोनों ही बदमाशो ने गुरुवार को 4 घण्टे के बीच मोपेड वाहन पर सवार होकर लसूड़िया थाना क्षेत्र में रिटायर्ड जज जे.एस. सेंगर की बहू एडवोकेट आराधना सिंह का पर्स लूटने का प्रयास किया था और इस दौरान एडवोकेट अराधना सिंह का एक्सीडेंट हो गया और गम्भीर चोंटे पहुंचने के बाद आखिरकार उन्हें इलाज के लिए बॉम्बे हॉस्पिटल ले जाया गया था।
इधर, इंदौर के एक निजी स्कूल की शिक्षिका किरण देसाई को उनके घर अनूप नगर पहुंचने के पहले लूटने का प्रयास किया जिसके बाद शिक्षिका को सड़क की रगड़न के चलते पैरों में गम्भीर चोंटे आई थी। वही बदमाश मौके से भागने में कामयाब रहे थे इसके बाद बदमाशो ने जीएसआईटीएस कॉलेज के सामने से अपनी भाभी के साथ जा रही मनीषा गुप्ता का पर्स लूट लिया था।

यह भी पढ़े.. मेटा कंपनी की बड़ी कार्रवाई, 1,500 फेक अकाउंट किए ब्लॉक

इधर, पुलिस के लिए चुनौती बने दोनों बदमाशो को पकड़ने के लिए हाईटेक तरीके पर काम किया। इंदौर डीसीपी जोन – 2 आशुतोष बागरी ने बताया कि अलग – अलग थाना क्षेत्रों से जुड़ी एक सामुहिक टीम बनाई गई और सभी को एक नया व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर जोड़ लिया गया और हर इनफार्मेशन ग्रुप में भेजी गई। जिसके साथ ही सीसीटीवी फुटेज खंगालने का काम जारी रहा और इस दौरान बदमाशों के चेहरे भी साफ नजर आने लगे और जैसे ही उनकी पहचान पुख्ता हुई वैसे ही पुलिस ने उनकी खोजबीन शुरू कर दी। इधर, पुलिस के ऑपरेशन के अंत के वक्त बदमाशों द्वारा भागने की फिराक में छलांग लगाई गई तो उनके हाथ पैर में गम्भीर चोंटे आई है।

शिक्षिका से हाथ जोड़कर मांगी माफी तो एडवोकेट पति ने पुलिस की तारीफ की
इंदौर में कमिश्नरी प्रणाली लागू होने के बाद लोगो की उम्मीदे भी पुलिस से बढ़ गई है। ताजा मामले में जैसे ही पुलिस ने पीड़ित परिजनों को आरोपियों की गिरफ्तारी की सूचना दी तो वो पुलिस को धन्यवाद देने पहुंचे। जहां एडवोकेट आराधना सिंह में पति ने पुलिस की दिल खोलकर तारीफ की तो वही दूसरी ओर लुटेरो के आतंक से परेशान शिक्षिका किरण देसाई के परिजनों ने तो वीडियो कॉल पर बदमाशों से माफी मंगवाईं। दोनों बदमाश हाथ जोड़कर ऑनलाइन माफी मांगते नजर आए। वही पुलिस अब दोनों ही बदमाशो से कड़ी पूछताछ कर रही है ताकि अन्य वारदातों के बारे में पता लगाया जा सके।