नजर हटी और दुर्घटना घटी, महिला की आंख में प्रेशर कुकर की सीटी घुसी, मुश्किल में पड़ गई जान।

खाना बनाते समय एक हादसा हुआ और प्रेशर कुकर (pressure cooker) की सीटी उड़कर महिला की आंख में जा घुसी। जिसके बाद महिला की एक आंख की रोशनी नही बची लेकिन महिला की जान बच गई|

इंदौर, आकाश धोलपुरे| एक महिला को खाना बनाना उस वक्त महंगा पड़ गया जब अचानक वो सिगड़ी से प्रेशर कुकर उठा रही थी उस वक्त महिला की नजर प्रेशर कुकर पर ही थी और एक कहावत उल्टी पड़ती नजर आई कि नजर लगी और दुर्घटना घटी। दिल दहला देने वाली ये घटना इंदौर (Indore) की है जहां खाना बनाते समय एक हादसा हुआ और प्रेशर कुकर (pressure cooker) की सीटी उड़कर महिला की आंख में जा घुसी। जिसके बाद महिला की एक आंख की रोशनी नही बची लेकिन महिला की जान बच गई|

बता दे कि इसके पहले रांची के खूटी जिले में 57 साल की महिला, जम्मू के उधमपुर एक महिला आग में झुलस गई थी वही 2017 में ग्रेटर नोएडा में प्रेशर कुकर के फटने से 35 साल के युवक की मौत हो गई थी और अब ताजा मामले में इंदौर निवासी 30 वर्षीय वंदना नामक महिला की आंख और नाक के तेजी से कुकर की सिटी घुस गई।

प्रेशर कुकर की सीटी बजने पर जैसे ही वंदना नामक महिला ने कुकर को उठाकर गैस चूल्हे के नीचे रखना चाहा तब सीटी उड़कर उसकी दायीं आंख की तरफ फंस गई। इस दौरान उसे काफी खून बहा और वो बेहोश हो गई जिसके बाद महिला को तुरंत अस्पताल ले जाया गया। जहां ऑर्बिट डॉक्टर्स ने उसकी सर्जरी तो की लेकिन वो महिला की आंख की रोशनी नहीं बचाई जा सके। इंदौर के आर्बिट सर्जन डॉ. भाग्येश पोरे की माने तो बताया कि 30 वर्षीय महिला की आप्टिक नर्व डैमेज होने के कारण आंख की रोशनी नहीं बचाई जा सकी। 17 नवंबर को महिला को भर्ती कराया गया था जिसके तुरंत सिटी स्केन कराया गया तो पता चला कि महिला की आंख और नाक के बीच 2.5 सेंटीमीटर की सीटी घुस गई। जिसके बाद ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन के दौरान डॉक्टर्स ने ऑर्बिट के अंदर उतरकर आंख के अन्य अंगों के कम से कम डैमेज कर सीटी को बाहर निकाला गया। वही डॉक्टर्स को पता चला कि आंख की नस और नजर और आंख के बीच की चमड़ी क्षतिग्रस्त हो चुकी है जिसके बाद चमड़ी की प्लास्टिक सर्जरी कर उसे ठीक किया गया। वही पीड़ित महिला को एंटी बायोटिक दवा और स्टेराइड दिया गया है। हालांकि दुनिया में प्रेशर कुकर व्हिसल इंजरी की पांच केस रिपोर्ट हैं। वही इंदौर में आये इस केस में पेशेंट की आंख तो नही बचाई जा सकी लेकिम आई बॉल और पलकों के मूवमेंट को बचाने में डॉक्टर्स कामयाब रहे।

इस मामले के सामने आने के बाद अब डॉक्टर्स, आम लोगो को सलाह दे रहे है कि खाना बनाते वक्त कुकर के प्रेशर और टायर की हवा भरते वक्त सावधानी बरतनी चाहिए नही कई बार ऐसे हादसे सामने आ जाते है कि जान भी जोखिम में पड़ सकती है।