मेडिकल कॉलेज की जमीन पर निजी टेनिस क्लब का विरोध,प्रधानमंत्री से की शिकायत

इंदौर

इंदौर में शासकीय एमजीएम मेडिकल काॅलेज की अरबों रुपए की बेशकीमती सरकारी जमीन पर निजी टेनिस क्लब बनाने के खिलाफ अब कॉलेज का एलुमिनाई एसोसिएशन और जूनियर डॉक्टरों ने खुला विरोध शुरू कर दिया है। इसपर प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री से लेकर लोकायुक्त तक को लिखित शिकायत की गई है।

इस शिकायत में कहा गया है कि शासकीय एमजीएम मेडिकल काॅलेज मेडिकल काॅलेज प्रबंधन द्वारा मेडिकल काॅलेज की सरकारी जमीन पर निजी टेनिस क्लब बनाने के लिए साजिद लोदी, 23 नंदनवन काॅलोनी, मानिकबाग रोड़ इंदौर, मध्यप्रदेश से अनुबंध किया गया है। इसके लिए एमजीएम मेडिकल काॅलेज प्रबंधन ने एमजीएम मेडिकल काॅलेज परिसर में टेनिस कोर्ट बनाने, रखरखाव तथा कोच हेतु एक्सप्रेशन ऑफ इंटस्ट आमंत्रित किया था और तथा 2 नवंबर 2019 तक आवेदन मंगाए गए थे। साथ ही इसमें जो अर्हताएं, योग्यताएं डाली गई थी वह मध्यप्रदेश या देश में जिस व्यक्ति साजिद लोदी से अनुबंध किया गया है, उसके अलावा कोई पूरी नहीं करता। जिससे स्पष्ट है कि यह टेंडर पूर्व मिलीभगत से साजिद लोदी को ही देने के लिए इस तरह का टेंडर जारी किया गया, कि कोई और प्रतिस्पर्धी इसमें भाग न ले सके। इस शिकायत पत्र में कहा गया है कि एमजीएम मेडिकल काॅलेज प्रदेश का सबसे बड़ा सरकारी मेडिकल काॅलेज है और इसके अंतर्गत संचालित होने वाला महाराजा यशवंत राव अस्पताल भी प्रदेश का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल है जो इसी परिसर में संचालित हो रहा है। एमजीएम मेडिकल काॅलेज में प्रतिवर्ष मेडिकल कांउसिल ऑफ इंडिया द्वारा अलग अलग विभागों में सीटें बढ़ाई जा रही है, जिसके चलते काॅलेज को आने वाले समय में अतिरिक्त जमीन की जरूरत पडे़गी। लेकिन मेडिकल काॅलेज प्रबंधन द्वारा अपनी बेशकीमती जमीन निजी व्यक्ति को निजी टेनिस क्लब चलाने के लिए दे दी गई जो नियम विरुद्ध है। उसपर भी साजिद लोदी द्वारा निर्मित सिर्फ एक टेनिस कोर्ट का उपयोग यहां के डाॅक्टर व स्टुडेंट कर पाएंगे, तीन पर वह अपनी निजी एकेडमी चलाएंगे। जिससे स्पष्ट है कि वह करोड़ो रूपए की शासकीय जमीन का उपयोग अपने आर्थिक लाभ के लिए करेंगे और यहां निजी क्लब चलाएंगे। मेडिकल काॅलेज के पास अपने अस्पताल नहीं है। अरविंदो मेडिकल काॅलेज में सरकारी खर्च पर मरीजों का इलाज करवाना पड़ रहा है। निजी गार्डनों की जगह लेकर क्वारंटाइन सेंटर बनाने पड़ रहे है। वहां लॉकडाउन अवधि के दौरान 30 मार्च 2020 को डीन, एमजीएम मेडिकल काॅलेज डाॅ. ज्योति बिंदल द्वारा साजिद लोदी से यह अनुबंध करना कितना उचित है। इस मामले पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कॉलेज का एलुमिनाई एसोसिएशन व छात्र नेता अभिजीत पांडे ने ये अनुबंध निरस्त करने की मांग की है