महू में मासूम से दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाला आरोपी गिरफ्तार

इंदौर। आकाश धौलपुरे। 

देश के संविधान का निर्माण करने वाले डॉ. भीमराव अंबेडकर की जन्मस्थली अंबेडकर नगर महू में घृणित कार्य कर मासूम को हमेशा हमेशा के लिए मौत की नींद सुलाने वाले विकृत मानसिकता वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्त में लिया है। पुलिस गिरफ्त में आये वहशी का नाम अंकित पिता कमल सिंह बताया जा रहा है। पुलिस की माने तो युवक ने घटना को अंजाम देने के पहले महू के साँई मंदिर के सामने से श्वानों को हटाया था जिसके बाद प्लेटफार्म पर सो रहे दम्पत्ति के पास से देर रात 4 साल की मासूम को उठाकर अगुवा कर लिया। 

इसके बाद आरोपी अंकित प्रशांति हॉस्पिटल के पीछे स्थित आर्मी क्वार्टर परिसर के बंगला नम्बर 122 में बच्ची के साथ दुष्कर्म किया और फिर उस्की हत्या कर दी। पुलिस को पूछताछ में ये भी पता चला है कि आरोपी अंकित की पत्नी गर्वभती है और इसी के चलते उसने ऐसा दुष्कृत्य किया। महू के शंकर किराना बगीची निवासी वहशी अंकित सिंह घटना को अंजाम देकर मौके से भाग निकला। बता दे कि घटना की रविवार देर रात 2 बजे बाद कि जिसके बाद महू की कोतवाली थाना पुलिस को जानकारी सोमवार को मिली। 

पुलिस ने इलाके के आस पास लगे सीसीटीवी के फुटेज से आरोपी की पहले शिनाख्त की उसके बाद हुलिए के आधार पर उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की तब आरोपी अंकित ने अपना जुर्म कबूल किया। इधर, घटना में ये बात भी सामने आई कि सुरक्षा के लिहाज से प्रशासन द्वारा लगाये गए सीसीटीवी कैमरे खराब पड़ चुके जिसके जबाव में एडीजी ने कहा कि जल्द ही सीसीटीवी कैमरों को दुरुस्त करवाया जाएगा। दरअसल, घटना के बाद आरोपी की तलाश में जुटी महू पुलिस को जो फुटेज मिले थे वो काफी धुंधले थे लिहाजा उन फुटेज को इंदौर में एक्सपर्ट के पास पहुंचाया गया जिसके बाद आरोपी का हुलिया सही ढंग से पता चल पाया। घटना के दौरान आरोपी ने ब्लैक जैकेट पहनकर काली करतूत को अंजाम दिया था। एडीजी वरुण कपूर ने बताया कि वारदात का खुलासा पुलिस ने 48 घण्टे में कर आरोपी को पकड़ लिया इसके पहले पुलिस ने कुल 11 संदिग्धों को हिरासत में लिया था। वही एडीजी इंदौर वरुण कपूर ने ये भी बताया कि युवक विकृत मानसिकता का है और उसने डेढ़ साल पहले भी 70 वर्षीय महिला के साथ दुष्कृत्य करने की कोशिश की थी लेकिन उस दौरान लोगो ने उसे जमकर पीटा था। फिलहाल, पुलिस ने 36 वर्षीय वहशी दरिंदे अंकित सिंह पर पॉक्सो एक्ट सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है। अब पीड़िता के परिजनों और लोगो की मांग है आरोपी को फांसी की सजा दी जाए। अंबेडकर की नगरी महू में हुए दुष्कृत्य की इस वारदात के बाद अब हर जुबां एक ही बात बोल रही है कि वहशी दरिंदे को मौत की सजा के अलावा कुछ भी मंजूर नही।