माँ अहिल्या के चरणों में पहुंचकर मेयर सहित जीते हुए पार्षद ने लिया आशीर्वाद, कहा – विजय जुलूस नहीं निकालने का लिया था सामूहिक निर्णय

नए मेयर पुष्यमित्र भार्गव को एक प्लेटफॉर्म दिया है उस प्लेटफॉर्म को आगे बढ़ाने में वो बहुत ही कारगर सिद्ध होंगे।

इंदौर, आकाश धौलपुरे। मध्यप्रदेश और देश के सबसे स्वच्छ शहर में बुधवार को जो हुआ वो अब एक इतिहास बन गया है। दरअसल, यहां नवागत महापौर (mayor) और बीजेपी पार्षदों  ने सामूहिक निर्णय लेते हुए अपने पहले ही कदम पर ऐसा निर्णय लिया जो जनता के हित मे है। इंदौर में विजयी जुलूस निकालने के बजाय महापौर पुष्यमित्र भार्गव और पार्षदों ने माँ अहिल्या का आशीर्वाद लिया।

यह भी पढ़े…अब्दुल्ला शफीक की धमाकेदार पारी के दम पर पाकिस्तान ने श्रीलंका को दी मात

माँ अहिल्या के चरणों में पहुंचकर मेयर सहित जीते हुए पार्षद ने लिया आशीर्वाद, कहा - विजय जुलूस नहीं निकालने का लिया था सामूहिक निर्णय

मेयर पुष्यमित्र भार्गव ने बताया कि इंदौर की कुशल प्रशासक रही धर्मप्रिय और न्यायप्रिय रही माँ अहिल्या के आशीर्वाद से ही आज इंदौर विकास के पथ पर और सभी बाधाओं से मुक्त है। सभी जनप्रतिनिधि जिन्हें जनता ने आशीर्वाद दिया है वो सामूहिक रूप से माँ अहिल्या का आशीर्वाद लेने आए है।

उन्होंने बताया कि शहर में मौसम और यातयात को ध्यान में रखते हुए सभी ने निर्णय लिया था कि विजय जुलूस नही निकालेंगे और माँ अहिल्या का आशीर्वाद लेकर आगे का काम शुरू करेंगे। वही उन्होंने साफ किया कि महापौर की टीम काम करने वाली, विकास को आगे ले जाने वाली और जनता के दुख दर्द को समझकर जनता के बीच मे रहने वाली होगी। वही महापौर परिषद को लेकर मेयर पुष्यमित्र भार्गव ने कहा कि ये विषय नोटिफिकेशन पर निर्भर है। वही दूसरे चरण की मतगणना को लेकर उन्होंने कहा कि बीजेपी जीतेगी और आज भी ऐतिहासिक परिणाम देखने को मिलेंगे।

यह भी पढ़े…बड़े भू माफियाओं से ताल्लुक रखने वाले निकुल कपासी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बता दे कि इंदौर के ह्रदय स्थल राजबाड़ा पर महापौर सहित बीजेपी के सभी पार्षद, पूर्व महापौर मालिनी गौड़, मंत्री तुलसी सिलावट, विधायक रमेश मेंदोला सहित बड़ी संख्या में बीजेपी कार्यकर्ता और नेता मौजूद रहे। इस दौरान सभी ने राजबाड़ा पर पोहे और जलेबी का लुत्फ भी उठाया। इस मौके पर पूर्व महापौर मालिनी गौड़ ने कहा कि उनके कार्यकाल में 5 वर्षों तक उनके साथ जनता जुड़ी हुई थी। वही नए मेयर पुष्यमित्र भार्गव को एक प्लेटफॉर्म दिया है उस प्लेटफॉर्म को आगे बढ़ाने में वो बहुत ही कारगर सिद्ध होंगे। वही स्वच्छता के पैमाने पर वो आगे भी इंदौर का नाम आगे बढ़ाएंगे। सभी की मेहनत का परिणाम है कि हमारी जीत हुई है।

यह भी पढ़े…SUV सेगमेंट में मारुती की नई कार Grand Vitara की एंट्री, जानें बुकिंग डिटेल्स और स्पेसिफिकेशंस

इधर, मध्यप्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि मध्यप्रदेश के हर कोने में बीजेपी का परचम निकाय चुनाव में फहरा है। वही उन्होंने कहा कि सीएम के सपनो के शहर की ये जीत है। वही विकास प्रगति और कल्याणकारी योजनाओं को उन्होंने जीत का कारण बताया। राजबाड़ा से नए कार्यकाल की शुरुआत नई परिषद ने की है और माना जा रहा है कि सीएम की उपस्थिति में नई परिषद का गठन इंदौर में होगा लिहाजा, परिषद में कौन किस जिम्मेदारी के साथ सामने होगा इस पर अभी सवाल बने हुए है।