कपड़ा व्यापारी से 14 लाख रुपये की लूट, पुलिस जांच में जुटी

कपड़ा व्यापारी अपनी तीन दिन की जमा सिल्लक को अपने घर ले जा रहा था। उसी दौरान रास्ते मे अज्ञात बदमाश आये और उन्होंने व्यापारी को पहले बातों में उलझाने की कोशिश की, फिर विवाद कर उसकी डिक्की से 14 लाख रुपये से अधिक की नगद राशि ले उड़े।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (Indore) में बदमाशों के हौंसले इतने बुलंद हो गए है कि वो कोरोना काल की कड़ी पुलिस सुरक्षा को तोड़ कर वारदातों को अंजाम दे रहे है। कुछ ऐसी ही वारदात मंगलवार रात को सामने आई जब एक कपड़ा व्यापारी अपनी तीन दिन की जमा सिल्लक को अपने घर ले जा रहा था। उसी दौरान रास्ते मे अज्ञात बदमाश आये और उन्होंने व्यापारी को पहले बातों में उलझाने की कोशिश की, फिर विवाद कर उसकी डिक्की से 14 लाख रुपये से अधिक की नगद राशि ले उड़े।

यह भी पढ़ें…MP School: 7000 से अधिक अतिथि शिक्षकों की होगी नियुक्ति, लोक शिक्षण आयुक्त ने दिए निर्देश

लूट की ये वारदात एम.जी.रोड़ (MG Road) थाना क्षेत्र के जेल रोड़ की बताई जा रही है। जहां रिव्हर साइड रोड़ स्थित प्रकाश प्लाजा के महेश गारमेंट के संचालक महेश तोषनीवाल अपने घर की ओर जेल रोड़ होते हुए स्नेहलतागंज जा रहे थे तब ही दो बदमाशों ने लूट की वारदात को अंजाम दे डाला। इसके बाद जानकारी पुलिस तक पहुंची तो पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और उन्होंने व्यापारी से लूट की वारदात के सीन को समझा।

रेडीमेड कपड़ो के व्यापारी महेश तोषनीवाल ने बताया कि वह दुकान से आ रहा था। उसी दौरान उन्हें 2 लड़को ने रोका और छीना छपटी कर मारपीट की और पैसों का बैग ले गए। फरियादी महेश तोषनीवाल ने बताया कि बैग में 14 लाख 13 हजार रुपये दुकान के रखे हुए थे। वही तोषनीवाल ने बताया कि उन्हें किसी पर शक नही है और वे हर रोज इसी रूट से स्नेहलतागंज स्थित अपने घर जाते है। उन्होंने बताया कि बैग में पिछले 3 दिन के पैसे रखे इधर, सरेराह हुई इस लूट की सूचना मिलने के बाद मौके पर पूर्वी क्षेत्र के एसपी आशुतोष बागरी , सीएसपी हरीश मोटवानी ओर टीआई डीवीएस नागर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने फरियादी व्यापारी से घटना के संबंध में जानकारी ली। एसपी आशुतोष बागरी ने बताया कि कपड़ा व्यापारी स्कूटी पर सवार होकर अपने घर जा रहे थे। दो लड़कों ने उन्हें रोका और उनके साथ मारपीट कर डिक्की में से पैसे निकालकर भाग गए। वही पुलिस ने घटना की तस्दीक कर एफआईआर की गई है। एसपी पूर्व ने उम्मीद जताई कि आरोपी जल्द ही पकड़ लिए जाएंगे।

बतादें कि पुलिस ने घटना को हूबहू दोहराते हुए पता लगाने की कोशिश की है कि आखित बदमाशों ने किस तरह से वारदात को अंजाम दिया है। वही पुलिस सीसीटीवी फुटेज तलाश कर बदमाशो की तलाश में जुट गई है। फिलहाल, इस घटना के सामने आने के बाद एक बार फिर सवाल उठ रहे है कि आखिर इंदौर में कब अपराधियों और अपराधों पर लगाम लगेगी।

यह भी पढ़ें…MP के स्वास्थ्य विभाग ने निजी अस्पतालों को लेकर जारी किए ये निर्देश